इंडिगो के शेयर की चाल पर सेबी की टेढ़ी नजर

श्रीमी चौधरी | मुंबई May 02, 2018 09:48 PM IST


विमानन कंपनी इंडिगो एयरलाइन की प्रवर्तक कंपनी इंटरग्लोब एविएशन के शेयर कीमतों में आई हालिया तेज गिरावट नियामक के जांच दायरे में आ गई है। सूत्रों के अनुसार भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) ने स्टॉक एक्सचेंजों से पिछले एक महीने के शेयर भाव की जानकारी मांगी है ताकि भेदिया कारोबार नियमों के संभावित उल्लंघन की जांच की जा सके।

27 अप्रैल को इंडिगो के अध्यक्ष आदित्य घोष के इस्तीफे की घोषणा से ठीक पहले इंडिगो के शेयर में 6 फीसदी की गिरावट आई, जो पिछले सात महीने में सर्वाधिक गिरावट है। सूत्रों ने कहा कि नियामक स्टॉक एक्सचेंजों से मिले डेटा की जांच कर रहा है। मामले के जानकार एक अधिकारी ने कहा, 'हमें इस दौरान शेयरों की खरीद-बिक्री और कीमतों में उतार-चढ़ाव के आंकड़े प्राप्त हुए हैं। हम इसका अध्ययन कर रहे हैं।'

सूत्रों ने कहा कि सेबी ने कंपनी से उन प्रमुख अधिकारियों का विवरण देने को कहा है जिन्हें घोष के इस्तीफे की जानकारी थी। सूत्रों के अनुसार कंपनी के वरिष्ठ प्रबंधन को घोष के इस्तीफे और कीमतों से जुड़ी संवेदनशील जानकारी थी, इसलिए सेबी यह जांचना चाहता है कि इसकी जानकारी सही तरीके से स्टॉक एक्सचेंज को दी गई थी या नहीं।

सूत्रों ने बताया कि इंटरग्लोब के शेयर में पिछले एक हफ्ते में काफी उतार-चढ़ाव देखा गया, जिससे सेबी की निगरानी प्रणाली ने चेतावनी जारी की। शुक्रवार को बाजार बंद होने के बाद इंडिगो ने घोष के इस्तीफे और प्रवर्तक राहुल भाटिया को अंतरिम मुख्य कार्याधिकारी बनाने की घोषणा की थी। निदेशक पद से घोष का इस्तीफा 26 अप्रैल को प्रभावी हो गया था जबकि अध्यक्ष पद से उनका इस्तीफा 31 जुलाई से प्रभावी होगा।

कानूनी विशेषज्ञों का कहना है कि सेबी को घोष के इस्तीफे का खुलासा करने में देरी की जांच करनी चाहिए। विमानन कंपनी ने एक दिन बाद एक्सचेंज को इसकी जानकारी दी थी। एयर इंडिया की रणनीतिक बिक्री के बीच इंडिगो के शेयर में मार्च से ही उतार-चढ़ाव देखा जा रहा है। इंडिगो ने पहले एयर इंडिया को खरीदने में दिलचस्पी दिखाई थी लेकिन बाद में इसके लिए बोली नहीं लगाने का निर्णय किया। मार्च के अंत से अप्रैल मध्य तक इंडिगो के शेयर में 20 फीसदी से ज्यादा की तेजी आई थी।

 इंडिगो का शुद्ध लाभ 73 फीसदी घटा

किफायती विमानन कंपनी इंडिगो का एकल लाभ मार्च में समाप्त चौथी तिमाही में 73 फीसदी घटकर 117.96 करोड़ रुपये रहा। ईंधन पर खर्च बढऩे की वजह से कंपनी का मुनाफा घटा है। पिछले साल की समान तिमाही में कंपनी को 439.98 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ था। इस दौरान कंपनी की आय 6,056.84 करोड़ रुपये रही जो इससे पिछले वित्त वर्ष की इसी अवधि में 5,141.99 करोड़ रुपये थी। पूरे वित्त वर्ष 2017-18 के लिए कंपनी का कुल लाभ 2,242.58 करोड़ रुपये रहा।

कीवर्ड indigo, sebi, share, market, sensex, बीएसई, कंपनी, शेयर,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक