इंडोस्टार कैपिटल के आईपीओ पर लगा सकते हैं दांव!

श्रीपद एस ऑटे | मुंबई May 08, 2018 09:41 PM IST

इंडोस्टार कैपिटल फाइनैंस का आईपीओ बुधवार को खुल रहा है। इसमें 7 अरब रुपये तक के शेयरों का नया निर्गम और 2 करोड़ शेयरों तक की ऑफर फॉर सेल (ओएफएस) पेशकश शामिल है। दलाल पथ इसे आकर्षक मान रहा है, क्योंकि कंपनी ने नए ऋण सेगमेंट में विस्तार किया है, वह मजबूत और अनुभवी प्रबंधन टीम से संपन्न है और साथ ही शेयर का मूल्यांकन भी सस्ता है।  कंपनी की ऋण बुक वित्त वर्ष 2013-17 के दौरान 30 फीसदी के सालाना औसत से बढ़ी और यह दिसंबर 2017 के अंत में 51.7 अरब रुपये पर दर्ज की गई। वहीं ब्याज आय परिसंपत्तियों के प्रतिशत के तौर पर शुद्घ ब्याज मार्जिन (एनआईएम) भी हर साल सुधरा है। जहां यह 2014-15 में 6 फीसदी था, वहीं अप्रैल-दिसंबर 2017 के दौरान 6.9 फीसदी दर्ज किया गया।
 
सकल गैर-निष्पादित आस्तियों (एनपीए या फंसे कर्ज) के अनुपात में वर्ष 2016-17 से तेजी के बावजूद इंडोस्टार की परिसंपत्ति गुणवत्ता दिसंबर के अंत में 1.7 प्रतिशत पर सहज स्तर पर थी। इसी तरह राजस्व वृद्घि हाल के वर्षों में धीमी रही, लेकिन इसकी मुख्य वजह जमाओं और शुल्क पर कम आय हासिल होना है। इसके अलावा ब्याज दरें हाल तक कमजोर बनी रहीं जिससे राजस्व वृद्घि प्रभावित हुई है। हालांकि कंपनी के ऋण पोर्टफोलियो पर प्रमुख ब्याज आय में वृद्घि 18 फीसदी से अधिक रही है।
 
वाहन फाइनैंस
 
कॉरपोरेट, एसएमई और हाउसिंग फाइनैंस के अलावा इंडोस्टार ने हाल में वाहन फाइनैंस सेगमेंट (पुराने वाणिज्यिक वाहन) में भी दस्तक दी है। भविष्य में होलसेल सेगमेंट (ऋण बुक के 75 प्रतिशत से अधिक) के साथ साथ कंपनी के लिए यह मुख्य सेगमेंट रहने की संभावना है। विश्लेषकों का कहना है कि इससे इंडोस्टार को वित्त वर्ष 2019 तक और उसके बाद अपनी ऋण बुक तेजी से बढ़ाने में मदद मिलेगी। मजबूत प्रबंधन का समर्थन भी शुभ संकेत होगा। वाइस-चेयरमैन एवं मुख्य कार्याधिकारी आर श्रीधर श्रीराम ट्रांसपोर्ट फाइनैंस में प्रबंध निदेशक रहे हैं। श्रीराम ट्रांसपोर्ट फाइनैंस पुराने वाहन वित्त व्यवसाय में अग्रणी कंपनी है। इससे कंपनी के विकास परिदृश्य में निवेशकों और विश्लेषकों के विश्वास को बनाए रखने में मदद मिल रही है। केजरीवाल रिसर्च ऐंड इन्वेस्टमेंट सर्विसेज के निदेशक अरुण केजरीवाल कहते हैं, 'श्रीराम के साथ श्रीधर के पिछले अनुभव ने इंडोस्टार को बढ़त दिलाई है क्योंकि कंपनी मजबूती के साथ अपने वाहन फाइनैंस व्यवसाय का विस्तार कर रही है।' हालांकि निवेशकों को व्यवसाय के शुरुआती दौर और प्रतिस्पर्धी परिदृश्य को देखते हुए बहुत ज्यादा उम्मीदें नहीं रखनी चाहिए। कुल मिलाकर, इंडोस्टार द्वारा पुराने सीवी के लिए ऋण मुहैया कराने के व्यवसाय में सफल होने में कुछ समय लग सकता है। अन्य जोखिम है होलसेल व्यवसाय की ऊंची भागीदारी होना, जिसमें सब-इन्वेस्टमेंट ग्रेड (बीबीबी से कम क्रेडिट रेटिंग) के ग्राहक शामिल हैं। 
 
मूल्यांकन
 
निर्गम के बाद के आधार पर, यह आईपीओ दिसंबर तक की अपनी बुक वैल्यू के लगभग दो गुना पर उचित कीमत पर है। एसबीआईकैप सिक्योरिटीज के राजेश गुप्ता का कहना है, 'एनआईएम स्तर, पूंजी और परिसंपत्तियों पर प्रतिफल और आय संभावना को देखते हुए, मूल्यांकन प्रतिस्पर्धियों के मुकाबले काफी आकर्षक है।' कुल मिलाकर, दीर्घावधि निवेशक इस आईपीओ में खरीदारी कर सकते हैं। 
कीवर्ड IndoStar Capital Finance, share, market, sensex, बीएसई, कंपनी, शेयर,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक