पेंशन के करीब पहुंचे यूटीआई के 800 पूर्व कर्मी

ऐश्ली कुटिन्हो | मुंबई May 17, 2018 09:47 PM IST

यूनिट ट्रस्ट ऑफ इंडिया के करीब 800 पूर्व कर्मचारी शायद उस समाधान के करीब पहुंच गए हैं जो 15 साल से ज्यादा समय से लटका हुआ था। हाल में हुई बैठक में यूटीआई एमएफ के निदेशक मंडल ने उन कर्मचारियों को पेंशन देने के काफी समय से लंबित मामलों पर चर्चा की, जिन्होंने साल 2003 में स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति का विकल्प चुना था। दो सूत्रों ने यह जानकारी दी। यह मामला महत्वपूर्ण हो गया है क्योंकि यूटीआई एमएफ एक्सचेंज पर खुद को सूचीबद्ध कराने और मौजूदा निवेशकोंं को बाहर निकलने का रास्ता मुहैया कराने की तैयारी में है। यूटीआई प्रबंधन ने साल 2013 और 2015 में पेंशन के मामले पर सरकार को लिखा था, लेकिन दोनों मौकों पर कुछ नहीं हुआ। सूत्रों का कहना है कि इस बार प्रबंध निदेशक लियो पुरी सरकारी अधिकारियों से मिलकर एक योजना तैयार कर सकते हैं। 
 
करीब 780 कर्मचारियों को पेंशन देने पर 300-400 करोड़ रुपये खर्च हो सकते हैं। यह स्पष्ट नहीं है कि यह रकम यूटीआई एमएफ के खाते से दिया जाएगा या फिर स्पेशिफाइड अंडरटेकिंग ऑफ यूनिट ट्रस्ट ऑफ इंडिया (सूटी) भी इसमें शामिल होगी। यूटीआई एमएफ की तरफ से भुगतान होने पर उसके आगामी आरंभिक सार्वजनिक निर्गम के मूल्यांकन पर असर पड़ सकता है। इस बारे में यूटीआई एमएफ ने कुछ नहीं बताया कि मामला कैसे सुलझा। यूनिट ट्रस्ट ऑफ इंडिया ने कर्मचारी कल्याण कोष बनाया था, जो दो इकाइयों में बंटने के बाद सूटी का हिस्सा बना। सूटी व यूटीआई एमएफ पेंशन भुगतान के मामले में एक तरह की नहीं हैं। एक सूत्र ने कहा, यूटीआई एमएफ का मानना है कि सूटी कर्मचारियों के साथ मामले का निपटान करेगी क्योंकि इसके पास कर्मचारी कल्याण कोष की रकम है। लेकिन सूटी का मानना है कि ये कर्मचारी तकनीकी तौर पर यूटीआई एफएफ का हिस्सा हैं। सूटी के पास स्थायी कर्मचारी नहीं हैं। 
 
यूटीआई एमएफ ने 2003 में स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति योजना उन कर्मियों के लिए पेश की थी जिन्होंने 10 साल का कार्यकाल पूरा कर लिया था। 1200 से ज्यादा कर्मचारियों ने इसका विकल्प चुना। यूटीआई के तत्कालीन चेयरमैन एम दामोदरन ने जनवरी 2003 में बिजनेस स्टैंडर्ड से कहा था, इसका मकसद संगठन को थोड़ा हल्का करने का था। हमारे यहां बहुत ज्यादा कर्मचारी नहीं थे, लेकिन अतिरिक्त कर्मियों में कमी के लिए वीआरएस हो सकता है। यूटीआई के पास 2500 कर्मचारियों का आधार था, जो देश के 54 कार्यालयों में थे।
कीवर्ड UTI trust, pension,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक