आईएचएच की नजर भारत में 20 फीसदी वृद्धि पर

अनीश फडणीस | मुंबई May 18, 2018 09:45 PM IST

मलेशिया की अस्पताल शृंखला आईएचएच भारत में सालाना 20 से 30 फीसदी राजस्व वृद्धि का लक्ष्य कर रही है। कंपनी ने विलय-अधिग्रहण, मौजूदा संयंत्रों में विस्तार और नए स्पेशिएलिटी अस्पतालों के जरिये इस लक्ष्य तक पहुंने की योजना बनाई है।  साल 2002 में भारतीय बाजार में प्रवेश करने वाली आईएचएच विलय-अधिग्रहण के जरिये अपनी स्थिति मजबूत की है और अब वह फोर्टिस हेल्थकेयर का अधिग्रहण करने जा रही है। इस अस्पताल शृंखला ने कहा है कि वह फोर्टिस के लिए बोली प्रक्रिया में भाग लेने के लिए प्रतिबद्ध है और उसने अपनी पेशकश की वैधता अवधि को बढ़ाकर 29 मई की मध्यरात्रि तक कर दिया है।
 
आईएचएच समूह की कंपनी पार्कवे पंताई के इंडिया सीईओ डॉ. अजय बख्शी ने कहा, 'भारत में हम पहले ही तीन सौदे कर चुके हैं और कई अन्य सौदे की तैयारी चल रही है। हालांकि फोर्टिस के बारे में बात करना फिलहाल मेरे लिए उचित नहीं है।' मलेशिया की इस अस्पताल शृंखला ने भारत को अपना प्रमुख बाजार घोषित किया था और उसकी नजर भारत से उल्लेखनीय राजस्व जुटाने पर है। फिलहाल आईएचएच दक्षिण एवं पश्चिम भारत में 1,600 बिस्तरों के साथ सात अस्पतालों का संचालन करती है। कंपनी के कुल राजस्व में भारतीय कारोबार का योगदान 12 अरब रुपये रहा जो 2017 में उसके कुल राजस्व का करीब 6 फीसदी था। बख्शी ने कहा, 'चाहे यह सौदा (फोर्टिस) हो अथवा कोई अन्य सौदा, हमारे प्रबंध निदेशक टान सी लेंग ने घोषणा की है कि हम भारत में अधिग्रहण को लेकर काफी तत्पर रहेंगे।' उन्होंने उम्मीद जताई कि भारतीय कारोबार के राजस्व में सालाना 20 से 30 फीसदी की वृद्धि होगी चाहे कंपनी फोर्टिस में हिस्सेदारी का अधिग्रहण करे अथवा नहीं।
 
आईएचएच ने भारत में अपना पहला अस्पताल 2002 में कोलकाता में अपोलो हॉस्पिटल के साथ संयुक्त उपक्रम के तौर पर स्थापित किया था। उसने हैदराबाद में कॉन्टिनेंटल हॉस्पिटल्स में 51 फीसदी और उसके बाद ग्लोबल हॉस्पिटल्स में 73.4 फीसदी हिस्सेदारी का अधिग्रहण किया था। 
कीवर्ड Malaysia, IHH,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक