परिचालक लेनदारों को राहत!

ज्योति मुकुल | नई दिल्ली May 21, 2018 09:38 PM IST

लार्सन ऐंड टुब्रो को नैशनल कंपनी लॉ अपीलीय ट्रिब्यूनल से उम्मीद जगी है क्योंकि ट्रिब्यूनल ने भूषण स्टील के ऊपर इसके 9.62 अरब रुपये के बकाये से जुड़ी याचिका स्वीकार कर ली है। इस याचिका पर मंगलवार को सुनवाई होगी। दिवालिया समाधान के बाद भूषण स्टील का अधिग्रहण पिछले हफ्ते टाटा स्टील ने किया है। एलऐंडटी ने आज एनसीएलएटी में तर्क दिया कि वह उत्पीडि़त इकाई है। एक ओर जहां भूषण स्टील के अधिग्रहण के बदले लेनदारों की समिति को टाटा स्टील से अपने बकाए का 70 फीसदी मिला, वहीं परिचालक लेनदारों को कोई राहत नहीं मिली।
 
एलऐंडटी ने पहले कहा था कि उसके साथ परिचालक लेनदारों के समान व्यवहार होना चाहिए। हालांकि अगगर इसे परिचालक लेनदार माना जाता है तो इस योजना में समाधान आवेदक की इस योजना में किए गए 12 अरब रुपये का प्रावधान सबसे पहले एलऐंडटी के बकाए व दावे के निपटान पर लागू होगा। कुल 12 अरब रुपये में से 10 अरब रुपये वैसे परिचालक लेनदारों के लिए रखे गए हैं, जो ऋणी के कामकाज के लिए महत्वपूर्ण हैं। कंपनी ने अपनी याचिका में ये बातें कही है। सूत्रों ने कहा कि इस प्रस्ताव को अपीलीय ट्रिब्यूनल मंजूरी दे सकता है।
 
पहले एलऐंडटी व भूषण स्टील के पूर्व कर्मियों की याचिका को खारिज करते हुए एनसीएलटी ने 15 मई के आदेश में उनसे लागत के तौर पर एक-एक लाख रुपये लेने की बात कही थी। यह रकम व्यक्तिगत रूप से राहुल सेनगुप्ता को देने के लिए कहा गया था। ट्रिब्यूनल ने कहा, इस पृष्ठभूमि में एलऐंडटी के बदले किए गए दावे पूरी तरह से सही नहीं दिखते। कोई ऐसे दस्तावेज नहीं हैं जो बताते हों कि एलऐंडटी को सुरक्षित लेनदार माना जाना चाहिए, न कि परिचालक लेनदार।  अपनी अपील में आज एलऐंडटी ने कहा कि दिवालिया संहिता किसी पक्षकार के अधिकार में घालमेल की बात नहीं करता, जो इस संहिता के बनने के पहले से हो। एलऐंडटी ने आरोप लगाया कि दिवालिया समाधान का सामना कर रही भूषण स्टील ने ओडिशा के अंगुल फैक्टरी में 9.62 अरब रुपये के निर्माण कार्य के भुगतान में डिफॉल्ट किया ता। आईबीसी की प्रक्रिया के तहत एलऐंडटी ने इस रकम का दावा रिजॉल्यूशन प्रोफेशनल विजय कुमार अय्यर के पास किया था। भूषण स्टील का मुख्य संयंत्र ओडिशा में है जिसकी क्षमता 56 लाख टन की है और इसके पास उच्च मार्जिन वाला फ्लैट उïत्पाद कारोबार है, जो देसीव वैश्विक वाहन बाजार की जरूरतें पूरी करती है। 31 मार्च 2017 को भूषण स्टील के ऊपर 481 अरब रुपये का कर्ज था।
कीवर्ड L&T, infra,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक