टाटा को भूषण स्टील की बिक्री का सबसे ज्यादा फायदा एसबीआई को

एजेंसियां | नई दिल्ली May 22, 2018 09:48 PM IST

कर्ज में दबी भूषण स्टील की टाटा स्टील को बिक्री से सबसे अधिक फायदा देश के सबसे बड़े बैंक भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) को होगा। इस सौदे से बैंक के मुनाफे में 1,300 करोड़ रुपये की वृद्धि की उम्मीद है। इस बीच, टाटा स्टील ने कहा है कि वह इस सौदे के वित्त पोषण के लिए ऋण प्रतिभूतियों के जरिए 16,500 करोड़ रुपये जुटाएगी। इस बिक्री सौदे से पंजाब नैशनल बैंक को 700 करोड़ रुपये, केनरा बैंक को 600 करोड़ रुपये, बैंक ऑफ इंडिया को 500 करोड़ रुपये व ओबीसी तथा सिंडिकेट बैंक को 400-400 करोड़ रुपये मिलेंगे। वित्त मंत्रालय के अधिकारियों ने यह जानकारी दी। 
 
एसबीआई की अगुआई वाले बैंकों के समूह को इस सौदे से कुल मिलाकर लगभग 7,500 करोड़ रुपये मिलेंगे। इसके साथ ही इन बैंकों को इस इस्पात कंपनी में इक्विटी भी मिलेगी। उन्होंने कहा कि कंपनी के कर्ज के निपटान से एसबीआई के एनपीए या फंसे कर्ज में लगभग 11,000 करोड़ ररुपये की कमी आएगी। उल्लेखनीय है कि टाटा स्टील की पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक बमनीपाल स्टील ने पिछले सप्ताह भूषण स्टील में 72.65 फीसदी नियंत्रण हिस्सेदारी 36,000 करोड़ रुपये में खरीदी। भूषण स्टील के वित्तीय कर्जदाताओं के लिए निपटान राशि 35,200 करोड़ रुपये के बराबर होगी। वहीं टाटा स्टील ने ईमेल से भेजे एक जवाब में कहा है कि भूषण स्टील के अधिग्रहण के 32,500 करोड़ रुपये के सौदे के वित्त पोषण के लिए वह ऋण प्रतिभूतियों के जरिए 16,500 करोड़ रुपये जुटाएगी। कंपनी का कहना है कि बाकी राशि आंतरिक संसाधनों से ही जुटाई जाएगी। 
 
उद्योग के विशेषज्ञों के मुताबिक, भूषण स्टील की बिक्री टाटा स्टील की इकाई को करने में बैंकों को अपने कर्ज पर 30 से 35 फीसदी की कटौती झेलनी पड़ सकती है। हालांकि टाटा स्टील ने बैकों व वित्तीय संस्थानों के कर्ज कटौती पर टिप्पणी करने से मना कर दिया। कंपनी ने कहा, वित्तीय लिहाज से इस लेनदेन का वित्त पोषण मोटे तौर पर हमारी नकदी और कर्ज से होगी और 165 अरब रुपये का कर्ज जुटाया जाएगा। 
कीवर्ड bhusan steel, NCLT,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक