शेयरधारकों ने निदेशक को हटाया

अनीश फडणीस और सोहिनी दास | मुंबई/अहमदाबाद May 23, 2018 10:08 PM IST

फोर्टिस के 88 फीसदी शेयरधारकों ने चार पुराने निदेशकों में से आखिरी ब्रायन टेम्पेस्ट को अस्पताल शृंखला के निदेशक मंडल से हटाने के प्रस्ताव के पक्ष में मतदान किया। साथ ही मंगलवार को आयोजित ईजीएम में एकमत से तीन नए निदेशकों की नियुक्ति को मंजूरी दी। शेयरधारकों का मत प्रवर्तक इकाइयों के खिलाफ गया, जिन्होंने टेम्पेस्ट के हक में मतदान किया था। रैनबैक्सी के पूर्व सीईओ टेम्पेस्ट को फोर्टिस के संस्थापकों मालविंदर व शिविंदर सिंह ने नियुक्त किया था। सिंह बंधुओं को मार्च में फोर्टिस के बोर्ड से तब हटना पड़ा था जब उनके खिलाफ रकम की हेराफेरी के आरोप लगे थे और लेनदारों ने सिंह बंधुओंं के गिरवी शेयर जब्त कर लिए थे।

 
कुल मतदान प्रतिशत करीब 66 फीसदी रहा। इसमें से करीब 99 फीसदी ने शेयरधारकों की तरफ से नामांकित तीन नए निदेशकों की नियुक्ति के पक्ष में और 88 फीसदी ने टेम्पेस्ट को हटाने के पक्ष में मतदान किया। पूर्व प्रवर्तकों की तरफ से नियुक्त हरपाल सिंह, सबीना वैसोहा और तेजिंदर सिंह शेरगिल ने संभावित हार के डर से ईजीएम से एक दिन पहले ही इस्तीफा दे दिया था। उन्हें हटाने का प्रस्ताव इस तरह से निष्फल रहा। चार पुराने निदेशकों ने सुनील मुंजाल की हीरो एंटरप्राइजेज इन्वेस्टमेंट ऑफिस व बर्मन फैमिली ऑफिस की पेशकश के पक्ष में मतदान किया था। ईजीएम का आयोजन संस्थागत शेयरधारकों ईस्टब्रिज कैपिटल व ज्यूपिटर इंडिया फंड की मांग पर हुआ था, जिसके पास कंपनी की 12.04 फीसदी हिस्सेदारी है और इनकी मांग निदेशक मंडल के पुनर्गठन की थी। निवेशकों ने शुभलक्ष्मी चक्रवर्ती, रवि राजगोपाल और इंद्रजीत बनर्जी की नियुक्ति का प्रस्ताव किया और 99 फीसदी ने इस प्रस्ताव के पक्ष में मतदान किया। प्रवर्तक व संस्थागत शेयरधारकों ने एकमत से तीन नए निदेशकों के पक्ष में मतदान किया, वहीं आम शेयरधारकों ने कुछ नकारात्मक वोट भी डाले। नतीजे की घोषणा बुधवार को की गई।
 
इसी तरह प्रवर्तकों (आरएचसी होल्डिंग्स व मलव होल्डिंग्स के अलावा सिंह बंधुओं के पारिवारिक सदस्य समेत) ने टेम्पेस्ट के पक्ष में वोट दिया। 86-89 फीसदी संस्थागत व आम शेयरधारकों ने इनको हटाने के पक्ष में वोट दिया। येस बैंंक के पास फोर्टिस की करीब 15 फीसदी हिस्सेदारी है और यह सबसे बड़ी शेयरधारक है। प्रॉक्सी एडवाइजरी फर्म आईआईएएस ने एक नोट में कहा, नतीजे को सिर्फ एक तरीके से पढ़ा जा सकता है। मतदान से संकेत मिलता है कि नए निदेशक मंडल को पिछली गलतियों को सुधारने के लिए तत्काल कदम उठाना होगा। मणिपाल-टीपीजी समूह व आईएचएच की संशोधित बोली है, जो और अच्छी पेशकश के साथ आने को तैयार है। आईआईएएस ने कहा, बोर्ड के सामने असमंजस की स्थिति यह है कि वह मुंजाल-बर्मन को प्रतिबद्धता जता चुका है, ऐसे में क्या वह इससे दूर निकल पाएगा। फोर्टिस को कई बोली मिली है - टीपीजी के साथ मणिपाल हॉस्पिटल्स, आईएचएच और मुंजाल-बर्मन के अलावा चीन की दिग्गज फोसुन से इसे बोली मिली है।
कीवर्ड fortis, hospital, health,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक