गैस आधारित बिजली परियोजना बेचेगी जीवीके

बी दशरथ रेड्डी | हैदराबाद May 24, 2018 09:49 PM IST

कर्ज के बोझ तले दबा जीवीके समूह गैस आधारित दो बिजली परियोजना बेचने के लिए आंध्र प्रदेश बिजली कंपनी से बातचीत कर रहा है जिसकी संयुक्त स्थापित क्षमता 684 मेगावॉट है। समूह यह कदम संबंधित परियोजना के 18 अरब रुपये के कर्ज का अदायगी एकबारगी निपटान के जरिए करने की खातिर उठा रहा है। कंपनी की तरफ से प्रस्तावित 464 मेगावॉट वाली जीवीके गौतमी पावर और 220 मेगावॉट वाली जेगुरूपडु पावर (दूसरा चरण) के अधिग्रहण पर सहमति जताते हुए एपी डिस्कॉम ने परियोजना के लेनदारों से कहा है कि वह इन परिसंपत्तियों के लिए अपनी पेशकश सामने रखे। जीवीके के एक वरिष्ठ अधिकारी ने यह जानकारी दी।

 
ये दोनों गैस बिजली परियोजना कई सालों से समूह के नुकसान में इजाफा कर रही है क्योंकि इन संयंत्रों के संचालन के लिए प्राकृतिक गैस उपलब्ध नहीं है। परियोजना के ज्यादातर कर्ज एनपीए बन गए हैं क्योंकि कंपनी कर्ज की अदायगी करने में नाकाम रही, जिसका कारण संयंत्र का बेकार पड़ा रहना था। साल 2015 में एपी ट्रांस्को ने 217 मेगावॉट वाला झारसुगुड़ा में जीवीके गैस वाले बिजली संयंत्र का अधिग्रहण करीब 260 करोड़ रुपये में किया था, जो बिजली खरीद समझौता समाप्त होने के बाद हुआ था। कंपनी को अब सरकारी बिजली कंपनी के तौर पर खरीदार मिला है, जो इन संयंत्रों को बेचकर परियोजना के कर्ज की अदायगी करना चाहती है।
 
जीवीके पावर ऐंड इन्फ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड के उपाध्यक्ष संजीव कुमार सिंह ने कहा, हमने अपने बिजली संयंत्र के बारे में बिजली कंपनी को जानकारी दी है, जो कम लागत में बिजली का उत्पादन करेगी। इसके बाद आंध्र सरकार ने सैद्धांतिक तौर पर इन संयंत्रों को खरीदने पर सहमति जताई है। हम पेशकश को अंतिम रूप देने के लिए लेनदारों के साथ अभी काम कर रहे हैं।
कीवर्ड GVK, group, power,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक