इलेक्ट्रोस्टील स्टील्स के लिए वेदांत को अग्रिम भुगतान की इजाजत

भाषा |  May 30, 2018 09:33 PM IST

राष्ट्रीय कंपनी विधि न्यायाधिकरण (एनसीएलएटी) ने वेदांत लिमिटेड को इलेक्ट्रोस्टील स्टील्स के अधिग्रहण के लिए ऋणदाताओं को 5,320 करोड़ रुपये के अग्रिम भुगतान की अनुमति दे दी है। दो सदस्यीय पीठ ने हालांकि कहा कि यह भुगतान रेनेसांस स्टील द्वारा वेदांत की बोली को चुनौती देने वाली याचिका के नतीजे पर निर्भर करेगा। एनसीएलएटी के चेयरमैन न्यायमूर्ति एस जे मुखोपाध्याय की अगुआई वाली पीठ ने कहा, इसके लंबित रहने तक संबंधित पक्ष मंजूर निपटान योजना के अनुरूप काम कर सकते हैं और ऋणदाताओं की समिति (सीओसी) के पास अग्रिम राशि जमा कर सकते हैं। पीठ ने यह भी स्पष्ट किया कि अगर रेनेसांस स्टील इस मामले में जीत जाती है तो सीओसी को वेदांत का पैसा लौटाना होगा। 

 

क्या भूषण का बकाया चुकाएगी टाटा? 

 

एनसीएलएटी ने बुधवार को टाटा स्टील से पूछा कि क्या वह भूषण स्टील के आयकर व जीएसटी जैसे सांविधिक बकायों का भुगतान करेगी। टाटा स्टील ने इसी महीने भूषण स्टील को खरीदा है। भूषण स्टील के संस्थापक सिंघल परिवार तथा फर्म के परिचालक कर्जदाताओं एलऐंडटी ने इस अधिग्रहण को चुनौती देते हुए याचिकाएं दायर की है। इस पर एनसीएलएटी ने बकायों पर टाटा स्टील से बयान दाखिल करने को कहा। एनसीएलएटी के पीठ ने समाधान पेशेवर से कहा है कि वह बताए कि सभी परिचालनगत कर्जदाताओं को पेश किए गए 532 करोड़ रुपये में से एलऐंडटी को कितनी राशि मिलगी। अगली सुनवाई 3 जुलाई को होगी।
कीवर्ड vedanta, NCLT, tata,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक