म्युचुअल फंडों में छोटे शहरों से ज्यादा धन

एश्ली कुटिन्हो | मुंबई Jun 03, 2018 09:44 PM IST

एसोसिएशन आफ म्युचुअल फंड्स आफ इंडिया (एएमएफआई) के अप्रैल के आंकड़ों से पता चलता है कि म्युचुअल फंड (एमएफ) उद्योग की 17 प्रतिशत से ज्यादा संपत्ति कथित प्रमुख 30 शहरों से इतर (बी-30) शहरों से है। अप्रैल के आखिर में बी-30 शहरों से प्रबंधन के तहत संपत्ति (एयूएम) 4.02 लाख करोड़ रुपये थी, जबकि प्रमुख 30 (टी-30) शहरों से संपत्ति 19.2 लाख करोड़ रुपये थी। फ रवरी महीने मे सेबी ने 15 शहरों से इतर (बी-15) से संपत्ति जुटाने के लिए दिए जा रहे प्रोत्साहन ढांचे को खत्म कर दिया गया। 
 
बाजार नियामक ने कहा है कि 1 अप्रैल से फंड हाउसों को बी-30 शहरों से बढ़े हुए प्रवाह के लिए 30 आधार अंक अतिरिक्त कमीशन भुगतान की अनुमति होगी, जो पहले के बी-15 शहरों से इतर है। इसी के मुताबिक 15 शहरोंं की शर्तेंं व परिभाषाएं टी-15 और बी-15 30 शहरों, टी-30 (प्रमुख 30 शहरों) और बी-30 के लिए क्रमश: विकल्प के रूप में है।   अतिरिक्त प्रोत्साहन और उद्योग की ओर से ध्यान देने की वजह से बी-15 शहरों से एयूएम पिछले 2 साल के दौरान 35 प्रतिशत सालाना से ज्यादा बढ़ा है। उदाहरण के लिए एक साल पहले की तुलना में 31 मार्च 2017 तक बी-15 एयूएम 41.7 प्रतिशत बढ़कर 3.09 लाख करोड़ रुपये हो गया। मार्च 2018 के अंत तक यह पिछले साल की तुलना में 38 प्रतिशत बढ़कर 4.26 लाख करोड़ रुपये हो गया। इसकी तुलना में टी-15 (प्रमुख 15) शहरोंं से एयूएम इस अवधि के दौरान क्रमश: 36 प्रतिशत और 19 प्रतिशत बढ़ा है। 
 
उद्योग के जानकारों का मानना है कि छोटे शहरोंं से गति मजबूत बनी रहेगी। मार्च 2018 के अंत तक एयूएम में बी-15 शहरों से हिस्सेदारी 18.77 प्रतिशत रही, जो 4 साल का उच्चतम स्तर है। इसकी तुलना में टी-15 शहरों से हिस्सेदारी लगातार कम हो रही है और यह मार्च 2018 के आखिर तक यह 81.23 प्रतिशत रहा, जो मार्च 2015 के आखिर के 84.38 प्रतिशत की तुलना में कम है।  संपत्ति प्रबंधन कंपनियों ने भी छोटे शहरों में अपनी पकड़ बढ़ाने की कवायद की है। बाजार में तेजी के साथ इन सब वजहों से इन शहरों में म्युचुअल फंडोंं की स्वीकार्यता बढ़ी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सत्ता संभालने के बाद से 4 साल में सेंसेक्स 40 प्रतिशत से ज्यादा बढ़ा है। 
 
म्युचुअल फंडों की कुल परिसंपत्तियों में करीब 27 प्रतिशत व्यक्तिगत निवेशकों द्वारा है, जो बी-30 शहरों से आते हैं। वहीं दूसरी तरफ सिर्फ 7 प्रतिशत संस्थागत एमएफ संपत्ति बी-30 शहरों से आती है और शेष 93 प्रतिशत टी-30 शहरों से आती है।  अप्रैल 2018 तक के आंकड़ों के मुताबिक व्यक्तिगत निवेशकों ने 12.07 लाख करोड़ रुपये म्युचुअल फंडों में लगाए हैं, जो अप्रैल 2017 की तुलना में 36 प्रतिशत ज्यादा है। व्यक्तिगत संपत्तियों में प्रत्यक्ष निवेश की राशि 15 प्रतिशत है, जिसमें से 3 प्रतिशत बी-30 और 12 प्रतिशत टी-30 शहरों से आता है।  आंकड़ों से पता चलता है कि एयूएम की तालिका में शामिल राज्यों में महाराष्ट्र, दिल्ली, गोवा और गुजरात प्रमुख स्थान पर हैं। 
कीवर्ड mutual fund, share, market, sensex, बीएसई, कंपनी, शेयर,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक