बैंकों, ओएमसी में गिरावट से पीएसयू सूचकांक फिसला

प्रणति देवा | नई दिल्ली Jun 05, 2018 09:51 PM IST

सार्वजनिक क्षेत्र के उद्यमों (पीएसयू) के शेयरों का प्रदर्शन वर्ष 2018 में अब तक कमजोर रहा है। बीएसई पीएसयू सूचकांक इस साल अब तक 14 प्रतिशत कमजोर हो चुका है जबकि सेंसेक्स में 4 प्रतिशत की तेजी दर्ज की गई है। एनएसई पर भी निफ्टी पीएसई सूचकांक इस साल अब तक 11 प्रतिशत गिर चुका है जबकि निफ्टी-50 में 2 प्रतिशत की वृद्घि हुई है। विश्लेषक इन शेयरों में कमजोरी के लिए बैंकिंग  क्षेत्र में एनपीए और तेल कीमतों में तेजी जैसे आकस्मिक घटनाक्रमों को जिम्मेदार मान रहे हैं जिनसे तेल विपणन कंपनियां (ओएमसी) प्रभावित हुई हैं। 
 
विश्लेषकों का कहना है कि खबरों के अनुसार, सरकार कुछ खास पीएसयू में हिस्सेदारी घटाने की योजना बना रही है जिससे शेयर कीमतों पर दबाव बना रह सकता है। एचडीएफसी सिक्योरिटीज में रिटेल रिसर्च के प्रमुख दीपक जसानी ने कहा, 'पिछले तीन-चार वर्षों के दौरान लाभांश भुगतान तेजी से बढ़ा है, लेकिन इसकी वजह यह नही ंहै कि कंपनियां अच्छा मुनाफा कमा रही हैं। सरकार को राजकोषीय घाटे को नियंत्रित बनाए रखने में चुनौती का सामना करना पड़ रहा है, क्योंकि राजस्व उस गति से नहीं बढ़ रहा है जितनी तेजी से खर्च में इजाफा हो रहा है। इस अंतर को पाटने के लिए पीएसयू पर अधिक लाभांश देने के लिए दबाव डाला जा रहा है।' इक्विनोमिक्स रिसर्च के संस्थापक एवं प्रबंध निदेशक जी चोकालिंगम का कहना है कि जहां तक विनिवेश का सवाल है तो सरकार को मझोले आकार के उन पीएसयू में हिस्सेदारी बिक्री पर जोर देना चाहिए जिनका परिसंपत्ति आधार अच्छा है।
 
बैंक और ओएमसी पर ज्यादा दबाव
 
बीएसई पीएसयू सूचकांक में 40 से ज्यादा शेयर वर्ष 2018 में अब तक 10 प्रतिशत से अधिक गिर चुके हैं। एसीई इक्विटी के आंकड़ों से पता चलता है कि बीईएमएल, आईएफसीआई, पावर फाइनैंस कॉरपोरेशन, भारत इलेक्ट्रॉनिक्स, इंजीनियर्स इंडिया, रूरल इलेक्ट्रिफिकेशन कॉरपोरेशन, शिपिंग कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया, हिंदुस्तान कॉपर और एमएमटीसी में इस साल अब तक 25 प्रतिशत से ज्यादा की गिरावट आई है।  एनपीए में तेजी की वजह से सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों (पीएसबी) पर ज्यादा दबाव देखा गया है। निफ्टी पीएसयू बैंक सूचकांक इस साल अब तक 19 प्रतिशत गिर चुका है। तेल एवं गैस कंपनियों के शेयर भी कच्चे तेल की ऊंची कीमतों की वजह से फिसले हैं। चेन्नई पेट्रोलियम कॉरपोरेशन, मंगलूर रिफाइनरी ऐंड पेट्रोकेमिकल्स, हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉरपोरेशन, भारत पेट्रोलियम कॉरपोरेशन, इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन, तेल एवं प्राकृतिक गैस निगम और ऑयल इंडिया में वर्ष 2018 में अब तक 9 से 34 फीसदी के बीच गिरावट आई है। 
कीवर्ड PSU, bank, share, market, sensex, बीएसई, कंपनी, शेयर,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक