ट्रूकॉलर की मुट्ठी में आया चिल्लर

एजेंसियां | बेंगलूरु Jun 13, 2018 09:52 PM IST

फोन नंबर सर्च इंजन ट्रूकॉलर ने आज चिल्लर का अधिग्रहण कर भारत में पेमेंट स्पेस में अपने रणनीतिक निवेश की घोषणा की। चिल्लर देश का पहला मल्टी-बैंक पेमेंट ऐप है। पिछले  साल ट्रूकॉलर ने यह घोषणा की थी कि वह डिजिटल पेमेंट सेगमेंट में प्रवेश करेगी और अपने ऐप में यूपीआई-आधारित ट्रांसफर सुविधाओं को शामिल करेगी। ट्रूकॉलर के सह-संस्थापक एवं मुख्य रणनीति अधिकारी नमी जरिंघालम ने यहां पत्रकारों को बताया कि चिल्लर के संस्थापकों सोनी जॉय, अनूप शंकर, मोहम्मद गालिब और लिशॉय भास्करन तथा अन्य शेष लोग  ट्रूकॉलर में शामिल होंगे।
 
सोनी जॉय ट्रूकॉलर-पे के उपाध्यक्ष होंगे। जरिंघालम का मानना है कि चिल्लर की इंजीनियरों और डिजाइनरों की टीम ट्रूकॉलर में मोबाइल भुगतान के बारे में अपनी दक्षता और गहन अनुभव का इस्तेमाल करेगी।  उन्होंने यह भी कहा कि कंपनी ने ट्रूकॉलर पे को एक लोकप्रिय प्लेटफॉर्म बनाने के लिए भारत में 15 करोड़ से अधिक उपयोगकर्ताओं के साथ साथ देश में अपनी 300 से अधिक भागीदारियों का लाभ उठाने की योजना बनाई है।  जरिंघालम ने कहा, 'चिल्लर का अधिग्रहण कर हम मोबाइल भुगतान के लिए अपनी प्रतिबद्घता की पुन: पुष्टिï कर रहे हैं और अपना उपयोगकर्ता आधार बढ़ाने की योजनाओं को मजबूत बना रहे हैं। हम टीम की दक्षता और मजबूत उपयोगकर्ता आधार के जरिये इस क्षेत्र में व्यापक असर कायम करने में सक्षम होंगे।'
कीवर्ड truecaller, mobile,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक