जय मधोक एनर्जी ने जालंधर में शुरू किया सीएनजी पंप

भाषा | नई दिल्ली Jan 03, 2018 03:11 PM IST

पंजाब सीएनजी आपूर्ति करने वाला देश का नया राज्य बन गया है। सरकार के लाइसेंस की मंजूरी के बाद जय मधोक एनर्जी ने जालंधर में सीएनजी पंप शुरू किया है। कंपनी की मार्च तक लुधियाना में भी सीएनजी पंप लगाने की योजना है। पंजाब जालंधर में सीएनजी की आपूर्ति शुरू करने के साथ दिल्ली, गुजरात और महाराष्ट्र जैसे राज्यों की श्रेणी में आ गया है। इन राज्यों में पर्यावरण अनुकूल ईंधन कम्प्रेस्ड प्राकृतिक गैस (सीएनजी) की आपूर्ति की जा रही है। सीएनजी को डीजल के मुकाबले सस्ता माना जाता है। जय मधोक एनर्जी प्राइवेट के एक अधिकारी ने कहा कि हमने जालंधर में सीएनजी खुदरा पंप शुरू किया है तथा मार्च तक दो और  शुरू करने की योजना है। साथ ही तीन सीएनजी स्टेशन लुधियाना में भी उसी समय तक शुरू किए जाएंगे।

कंपनी के अनुसार वर्ष के अंत तक उसके सीएनजी पंपों की संख्या 24 पार कर जाएगी। प्रदूषण पर अंकुश तथा कार्बन उत्सर्जन में कमी लाने के इरादे से सरकार की 300 शहरों में गैस वितरण शुरू करने की योजना है। यह 2020 तक कुल ऊर्जा में गैस का योगदान 20 प्रतिशत करने की योजना का हिस्सा है जो फिलहाल 6.5 प्रतिशत है। पेट्रोलियम मंत्रालय के पेट्रोलियम नियोजन तथा विश्लेषण प्रकोष्ठ के अनुसार देश में 1,282 सीएनजी स्टेशन हैं। इसमें से 424 दिल्ली में तथा 405 गुजरात एवं 253 मुंबई में हैं। जय मधोक एनर्जी प्राइवेट लि. ने 2013 में जालंधर में सीएनजी और घरों में पाइप के जरिये खाना पकाने की गैस उपलब्ध कराने का लाइसेंस जीता था। कंपनी को 2015 में लुधियाना के लिए गैस वितरण अधिकार मिला। हालांकि कंपनी कानूनी बाधाओं के कारण चार साल तक काम नहीं शुरू कर पाई।
कीवर्ड जय मधोक एनर्जी, जालंधर, सीएनजी पंप, लाइसेंस, पर्यावरण, प्राकृतिक गैस, डीजल,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक