पटना में होगा निवेश सम्मेलन

बीएस संवाददाता | पटना Sep 07, 2017 09:53 PM IST

बिहार सरकार ने अब सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) क्षेत्र में निवेशकों को लुभाने के लिए कमर कस ली है। इसके तहत राज्य सरकार ने अगले हफ्ते पटना में निवेशकों का एक सम्मेलन आयोजित करने का फैसला किया है। इस सम्मेलन में निवेशकों को राज्य में आईटी उद्योग की संभावनाओं के बारे में बताया जाएगा। राज्य सरकार ने इस उद्योग के लिए जमीन की किल्लत की बात सिरे से खारिज कर दी। राज्य के मुख्य सचिव अंजनी कुमार सिंह ने बताया, 'आईटी उद्योग के लिए हम काफी गंभीर हैं। इस उद्योग में निवेशकों को आकर्षित करने के लिए हम हरसंभव कोशिश भी कर रहे हैं। सरकार ने इस बाबत बेंगलूरु, दिल्ली, मुंबई और दूसरे शहरों में रोडशो भी किए हैं। साथ ही, हमने 14 सितंबर को पटना में निवेशकों का एक सम्मेलन भी आयोजित किया है। इस उद्योग के लिए हमारे पास पर्याप्त जमीन है, जिस वजह से निवेशकों को इस बारे में चिंता करने की जरूरत नहीं होगी। हम कंपनियों को जमीन की पेशकश भी करेंगे।' 
 
राज्य सरकार ने इस उद्योग के लिए राजगीर और बिहटा में आईटी पार्क भी स्थापित करने का निर्णय लिया है। मुख्य सचिव ने बताया, 'राज्य सरकार ने बिहार में आईटी उद्योग के लिए जमीन की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए काम काफी पहले ही शुरू कर दिया था। हम राजगीर के पास 200 एकड़ में एक आईटी सिटी बनाने जा रहे हैं। वहीं, बिहटा के मेगा औद्योगिक पार्क में 25 एकड़ का एक आईटी पार्क भी विकसित कर रहे है। इसके अलावा, हम पटना में दो आईटी टावर भी बना रहे हैं। इसके लिए एक टावर के निर्माण की निविदा भी जारी कर दी है। इस बारे में विस्तृत परियोजना रिपोर्ट (डीपीआर) भी तैयार है।' राज्य सरकार पिछले करीब 5 साल से आईटी उद्योग को आकर्षित करने की कोशिश कर रही है। हालांकि, अब तक उसे आंशिक सफलता ही मिली है। इस साल टीसीएस ने पटना में एक कॉल सेंटर की शुरुआत की है।  इसके अलावा, जमीन और बिजली की कमी की वजह से आईटी कंपनियां अब तक बिहार दूर रही हैं।
कीवर्ड bihar, बिहार, सरकार, investment,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक