गन्ना किसानों को सरकार मुहैया कराएगी कृषि उपकरण

बीएस संवाददाता | लखनऊ Sep 07, 2017 09:54 PM IST

उत्तर प्रदेश सरकार गन्ना किसानों को खेती के उपकरण उपलब्ध कराने की तैयारी कर रही है। किसानों को खेती के लिए उपयोगी केन कटर, पावर टिलर व पावर स्प्रेयर जैसे उपकरण गन्ना समितियों के जरिये किराये पर दिए जाएंगे। प्रदेश की सभी सक्रिय गन्ना सहकारी समितियां अपना फार्म मशीनरी बैंक स्थापित करेंगी। सरकार के मुताबिक फार्म मशीनरी बैंक से गन्ना किसानों विशेषकर लघु एवं सीमांत किसानों को खेती की लागत कम करने में मिलेगी।
 
गन्ना विकास विभाग के मुताबिक गन्ना की खेती में यंत्रीकरण को बढ़ावा देने के लिए जल्द ही गन्ना समिति स्तर पर फार्म मशीनरी बैंक स्थापित किए जाएंगे। जहां ट्रैस मल्चर, ऑटोमैटिक शुगर केन कटर प्लांटर, ऑटोमैटिक शुगर केन ट्रेंच प्लांटर, पावर टिलर, पावर स्प्रेयर सरीखे आधुनिक कृषि उपकरण गन्ना समिति के कृषक सदस्यों को उपलब्ध होंगे। गन्ना एवं चीनी आयुक्त ने कहा कि प्रदेश की 169 गन्ना समितियों में पंजीकृत सदस्यों में से लगभग 33 लाख कृषक सदस्य गन्ने की खेती करते हैं। गन्ने की खेती में श्रमिकों की आवश्यकता सबसे ज्यादा बुआई, गुड़ाई, मिट्टी चढ़ाई और कटाई आदि में होती है, लेकिन समय पर श्रमिकों की उपलब्धता नहीं होने एवं अधिक मजदूरी के कारण कटाई में समस्या आती है और लागत भी बढ़ जाता है। इस समस्या के समाधान के लिए गन्ना की खेती में यंत्रों को बढ़ावा दिया जा रहा है।
 
चीनी उद्योग एवं गन्ना विकास विभाग के प्रमुख सचिव संजय भूसरेेड्डïी के निर्देश पर गन्ना समितियों में स्थापित किए जा रहे फार्म मशीनरी बैंक के लिए कृषि विभाग से अनुदान प्राप्त करने के लिए प्रयास किए जाएंगे। इन विशिष्ट कृषि यंत्रों की खरीद के लिए गन्ना समिति की प्रबंध कमेटी से  प्रस्ताव पारित कराना होगा और सभी कृषि यंत्र भारत सरकार के एफएमटीटीआई एवं अन्य भारत सरकार से मान्यता प्राप्त केंद्रीय संस्थान से पंजीकृत होंगे। गन्ना समितियां लाभांश वितरण के माध्यम से भी फार्म मशीनरी बैंक में कृषि यंत्र खरीद का प्रावधान कर सकती हैं।
कीवर्ड sugar, चीनी सीजन, गन्ने की खेती,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक