जंगल सफारी बनाएगी उत्तर प्रदेश सरकार

बीएस संवाददाता | लखनऊ Sep 14, 2017 09:56 PM IST

इटावा लायन सफारी की तर्ज पर लखनऊ में तैयारी

उत्तर प्रदेश सरकार इटावा लायन सफारी की तर्ज पर लखनऊ में एक नया जंगल सफारी बनाएगी। राजधानी लखनऊ में घडिय़ाल पुर्नवास केंद्र के लिए दुनिया भर में मशहूर कुकरैल के जंगलों में नया वन्यजीव सफारी बनाने पर योगी आदित्यनाथ सरकार 400 करोड़ रुपये खर्च करेगी। कुकरैल सफारी में बाघ के अलावा अन्य जंगली जानवरों के प्रवास होंगे। यहां जानवरों को प्राकृतिक परिवेश उपलब्ध कराया जाएगा। प्रदेश सरकार का मानना है कि इस नई परियोजना से पारिस्थितिकी-पर्यटन (ईको-टूरिज्म) को बढ़ावा मिलेगा। कुकरैल में घडिय़ाल पुनर्वास केंद्र पहले से ही पर्यटकों के लिए आर्कषण का केंद्र रहा है। वन विभाग के अधिकारियों के मुताबिक इस सफारी में बाघ और तेंदुओं के अलावा कई प्रकार के हिरणों को भी प्रवास दिया जाएगा। 

वन विभाग यह क्षेत्र राज्य के पहले जैव विविधता पार्क एवं ईको-टूरिज्म के रूप में विकसित करना चाहती है। यहां आने वाले पर्यटकों के लिए सफारी में कैंटीन, जिप्सी और सुरक्षा की भी खास व्यवस्था रहेगी। पर्यटकों के प्रवास के लिए कुकरैल में विश्राम गृह कॉटेज भी बनाए जाएंगे। अभी यहां पर वन विभाग का एक विश्राम गृह सेवा में है। प्रदेश के वन विभाग की ओर से तैयार प्रस्ताव के मुताबिक इस वन्य सफारी को बाघ प्रजनन केंद्र के रूप में भी विकसित किया जाएगा। इससे बाघों की संख्या में इजाफा करने में मदद मिलेगी। इस परियोजना पर आज आला अधिकारियों ने बुधवार को वन विभाग के साथ बैठक की। बैठक में वन एवं पर्यावरण मंत्री दारा सिंह चौहान एवं प्रमुख सचिव (वन) रेणुका सिंह भी शामिल हुए।
कीवर्ड uttar pradesh, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ gorakhpur,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक