राजस्थान में किसानों के 50 हजार तक कर्ज माफ

अर्चिस मोहन | नई दिल्ली Sep 14, 2017 10:53 PM IST

राज्य सरकार ने की कृषि ऋण माफी की घोषणा

राज्य सरकार के खजाने पर 20,000 करोड़ रुपये का बोझ पड़ने का अनुमान

देश में कृषि ऋण माफ करने वाले राज्यों की फेहरिस्त में राजस्थान भी शामिल हो गया है। गुरुवार को राज्य सरकार ने किसानों के ऋण माफ करने की घोषणा की। किसानों के साथ चली लंबी बैठक के बाद राज्य सरकार ने प्रत्येक किसान के 50,000 रुपये तक के सभी कृषि ऋण माफ करने की घोषणा की। किसानों के 13 दिनों के प्रदर्शन के बाद आखिकर राज्य सरकार को ऋण माफ करने के लिए विवश होना पड़ा।

एक अनुमान के अनुसार ऋण माफी की रकम 20,000 करोड़ रुपये हो सकती है। मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने दूसरे राज्यों में कृषि ऋण माफी योजना के अध्ययन के लिए विशेषज्ञों की एक समिति का गठन किया है। समिति उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, पंजाब, केरल और अन्य दूसरे राज्यों कृषि ऋण माफी योजनाओं का अध्ययन करेगी और एक महीने के अंदर रिपोर्ट राज्य सरकार को सौंपेगी। राजस्थान में ऑल इंडिया किसान सभा (एआईकेएस) ने आंदोलन की शुरुआत की थी। 

कथित गोरक्षकों के मवेशी कारोबारियों पर बढ़ते हमलों के आरोपों के संदर्भ में राज्य सरकार ने मवेशी कारोबारियों को सुरक्षा देने का भी वादा किया। एआईकेएस ने राज्य सरकार के सामने 11 सूत्री मांगों की सूची रखी थी। लगातार चले आंदोलन के बाद राज्य सरकार ने किसान सभा के नेताओं को बातचीत के लिए आमंत्रित किया था। बुधवार को दोनों पक्षों के बीच करीब 11 घंटे तक बैठक हुई और आधी रात के बाद राज्य के कृषि मंत्री प्रभुलाल सैनी ने सभी किसानों के 50,000 रुपये तक के ऋण माफ करने की औपचारिक घोष्णा कर दी।
कीवर्ड कृषि ऋण, ऋण माफी, राजस्थान, प्रदर्शन, वसुंधरा राजे, विशेषज्ञ, समिति, पंजाब,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक