उप्र में धान की खरीद शुरू

बीएस संवाददाता | लखनऊ Sep 25, 2017 10:11 PM IST

गेहूं खरीद से उत्साहित उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने सोमवार से धान की सरकारी खरीद की शुरुआत कर दी। राज्य सरकार ने इस बार 50 लाख टन धान की खरीद का लक्ष्य रखा है। सरकारी क्रय केंद्रों पर धान की बिक्री करने वालों को इस बार पहले पंजीकरण कराना होगा। इसके लिए सरकार ने एक वेबसाइट शुरू की है। राज्य सरकार के प्रवक्ता और कैबिनेट मंत्री श्रीकांत शर्मा ने बताया कि पूरे प्रदेश में धान की खरीद के लिए 3,000 धान क्रय केंद्र खुल गए हैं। ऐसे केंद्र राज्य के सभी जिलों में खोले जाएंगे। इनमें किसान आसानी से अपने धान की बिक्री कर सकेंगे। पहली बार राज्य सरकार ने क्रय केंद्रों पर धान की बिक्री के लिए किसानों का पंजीकरण भी शुरू किया है। यह पंजीकरण एक वेबसाइट पर किया जा रहा है। पंजीकरण के बिना धान की खरीद नहीं की जाएगी। सरकार का कहना है कि पंजीकरण की व्यवस्था से किसानों को बिचौलियों और आढ़तियों के हाथों अपनी फसल नहीं बेचनी पड़ेगी।
 
शर्मा ने बताया कि खरीफ के इस सीजन में सरकार का लक्ष्य 5 महीने में 50 लाख टन धान खरीद का है। धान की खरीद 25 सितंबर से अगले साल 28 फरवरी तक की जाएगी। किसानों से धान 1550 रुपये से 1590 रुपये प्रति क्ंिवटल की दर से खरीदा जाएगा। इस साल सत्ता में आने के बाद योगी सरकार ने 50 लाख टन गेहंू की सरकारी खरीद का लक्ष्य रखा था। इस लक्ष्य के सापेक्ष राज्य सरकार ने विभिन्न सरकारी खरीद एजेंसियों के जरिये 37 लाख टन गेहंू की खरीद की थी। पिछले साल राज्य सरकार केवल 7 लाख टन गेहंू ही खरीद सकी थी। राज्य सरकार का कहना है कि किसानों को सीधे बैंकों में भुगतान के चलते वास्तविक किसान क्रय केंद्रों पर गेहूं बेचने आए। इसी तरह की व्यवस्था धान खरीद में भी लागू की जाएगी।
कीवर्ड uttar pradesh, agri, paddy,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक