चमड़ा और कपड़ा क्षेत्र को मिलेगा बढ़ावा

सत्यव्रत मिश्रा | पटना Sep 28, 2017 09:55 PM IST

बिहार सरकार ने अब चमड़ा, फुटवियर और कपड़ा क्षेत्र में निवेशकों को लुभाने के लिए नई रणनीति बनाई है। इसके तहत इन दोनों क्षेत्रों में निवेश लुभाने के लिए राज्य सरकार नई रियायतों की सौगात देने वाली है। इसके तहत निवेशकों को नए अनुदानों के साथ-साथ करों में छूट भी दी जाएगी। राज्य सरकार इन दोनों क्षेत्रों को अति-प्राथमिकता वाला क्षेत्र घोषित करने जा रही है। इसके तहत इन दोनों क्षेत्रों से ताल्लुक रखने वाली इकाइयों को अब प्राथमिकता वाले क्षेत्रों की तुलना में ज्यादा रियायतें मिलेंगी। उद्योग विभाग के अधिकारियों ने बताया, 'पिछले साल नई औद्योगिक प्रोत्साहन नीति के तहत हमने 10 क्षेत्रों को प्राथमिकता सूची में शामिल किया था। उन्हें दूसरे क्षेत्रों से ज्यादा रियायतें और सुविधाएं मिल रही हैं। उस सूची में ये दोनों क्षेत्र भी शामिल थे। हालांकि इनमें रोजगार सृजन की जबरदस्त संभावनाओं को देखते हुए अब हमने इन्हें अति-प्राथमिकता वाले उद्योग घोषित किया है।'
 
इस नई श्रेणी में शामिल उद्योगों को ज्यादा ब्याज अनुदान और करों में ज्यादा रियायतें मिलेंगी। एक अधिकारी ने कहा,'फुटवियर और चमड़े के उत्पाद और कपड़े का उत्पादन करने वाली इकाइयों को स्टांप शुल्क में पूरी तरह से छूट मिलेगी, वहीं ये इकाइयां पांच साल तक राज्य के जीएसटी में जितना भी भुगतान करेंगी, उस पूरी रकम की प्रतिपूर्ति हो जाएगी। बाकी इकाइयों को 80 फीसदी तक एसजीएसटी की प्रति पूर्ति होनी है। इसके अलावा इन दोनों क्षेत्रों में निवेशकों को परियोजना लागत के 50 फीसदी के बराबर ब्याज अनुदान भी मिलेगा।'
कीवर्ड bihar, बिहार, सरकार, lather,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक