जीएसटी में मिले छोटे कारोबारियों को राहत

सत्यव्रत मिश्रा | पटना Oct 05, 2017 09:46 PM IST

बिहार के उप-मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) परिषद से छोटे कारोबारियों के लिए राहत की अपील की है। इसके तहत उन्होंने छोटे कारोबारियों के लिए हर महीने की जगह तीन महीने पर रिटर्न दाखिल करने की रियायत मांगी है। साथ ही, उन्होंने कंपोजिशन योजना के तहत सालाना कमाई की सीमा बढ़ाकर एक करोड़ रुपये तक करने की मांग भी की। 
 
मोदी इस वक्त जीएसटी नेटवर्क पर गठित राज्य वित्त मंत्रियों के समूह के संयोजक भी हैं। उन्होंने गुरुवार को जीएसटी परिषद के सदस्यों को पत्र लिखकर छोटे कारोबारियों को रियायत दिए जाने की अपील की है। परिषद की बैठक शुक्रवार को नई दिल्ली में होनी है। अपने पत्र में उन्होंने लिखा है, 'पहले ज्यादातर राज्यों में वैट व्यवस्था के तहत हर तीन महीने पर वैट का रिटर्न दाखिल का प्रावधान था। हालांकि, नई व्यवस्था में सभी करदाताओं को हर महीने रिटर्न दाखिल करना है, जिससे खास तौर पर छोटे कारोबारियों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। मेरा सुझाव है कि 1.5 करोड़ रुपये की सलाना कमाई वाले कारोबारियों के लिए मासिक की जगह त्रैमासिक रिटर्न दाखिल करने की व्यवस्था होनी चाहिए।' 
कीवर्ड bihar, GST, वस्तु एवं सेवा कर, जीएसटी,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक