धान का उत्पादन छत्तीसगढ़ में लक्ष्य से होगा कम!

आर कृष्णा दास | रायपुर Oct 05, 2017 09:47 PM IST

छत्तीसगढ़ में धान का उत्पादन 2017-18 में 13 लाख टन कम रहने का अनुमान है। राज्य सरकार ने अपनी आरंभिक रिपोर्ट में यह अनुमान जताया है। बारिश अपेक्षा से कम रहने से 149 में 96 तहसील सूखाग्रस्त घोषित की गई हैं। राज्य सरकार ने मौजूदा विपणन सत्र में 82 लाख टन चावल उत्पादन का लक्ष्य रखा है। हालांकि अब कम बारिश के बाद राज्य सरकार का यह लक्ष्य पूरा हो पाना मुश्किल लग रहा है। 

 
राज्य कृषि विभाग के एक वरिष्ठï अधिकारी ने इस बारे में कहा,'फसल समीक्षा सर्वेक्षण पूरा हो चुका है और आरंभिक रिपोर्ट में कहा गया है कि धान उत्पादन लक्ष्य से 13 लाख टन कम रह सकता है।' पिछले साल राज्य में 1.2 करोड़ टन धान की पैदावार हुई थी। अधिकारी ने कहा कि राज्य में मॉनसून का लौटना शुरू हो चुका है, जिससे नुकसान पहुंची फसलों में सुधार की संभावनाएं भी कमजोर पड़ गई हैं। राज्य सरकार ने केंद्र सरकार को एक विस्तृत रिपोर्ट भेजी है और सर्वेक्षण करने के लिए केंद्र से एक टीम आएगी। हालांकि धान का उत्पादन कम होने से केंद्र के चावल भंडार में छत्तीसगढ़ का योगदान कम नहीं होगा। राज्य केंद्र के चावल भंडार में योगदान देने वाले देश के अग्रणी राज्यों में शामिल है। राज्य सरकार ने इस साल 60 लाख टन धान खरीदारी का लक्ष्य रखा है। 
कीवर्ड chattisgarh, छत्तीसगढ़ paddy, farmer,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक