मल शोधन संयंत्र लगाएगी एस्सेल इन्फ्रा

बीएस संवाददाता | वाराणसी Oct 05, 2017 09:58 PM IST

वाराणसी में देश के पहले पीपीपी मॉडल आधारित एसटीपी परियोजना की जिम्मेदारी एस्सेल समूह की इन्फ्रा कंपनी को दी गई है। नैशनल मिशन फॉर क्लीन गंगा (नमामि गंगे) की भागीदारी में उत्तर प्रदेश जल निगम द्वारा स्वीकृत हाइब्रिड एन्यूटी पीपीपी मॉडल पर एस्सेल इन्फ्रा द्वारा विकसित करने का कार्य शुरू कर दिया गया है। करीब 156 करोड़ रुपये की लागत वाली इस संयंत्र के स्थापित होने के बाद प्रतिदिन 5 करोड़ लीटर गंदे पानी का शोधन किया जाएगा तथा निर्धारित समय 18 माह की अवधि के पूर्व ही इसे स्थापित किया जाएगा। कंपनी के अधिकारियों के अनुसार इस संयंत्र का संचालन एवं रखरखाव कंपनी द्वारा 15 वर्षों तक किया जाएगा। कंपनी के वरिष्ठ अधिकारी गोपाल गुप्ता ने बताया कि एस्सेल इन्फ्रा हाइब्रिड एन्यूटी-पीपीपी मॉडल पर आधारित इस सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट का अनुबंध हासिल करने वाला डॉ. सुभाष चंद्र की अगुवाई वाले एस्सेल समूह का एक उद्यम है। 
कीवर्ड varanasi, plant, water,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक