नगरनार विनिवेश पर सीएमडी ने दिए यू-टर्न के संकेत

बीएस संवाददाता | जगदलपुर Oct 08, 2017 09:45 PM IST

नगरनार लौह एवं इस्पात संयंत्र के विनिवेश के फैसले के चौतरफा विरोध पर एनएमडीसी लिमिटेड की पूरी नजर है। एनएमडीसी की आगामी बोर्ड बैठक  में इस विषय पर गंभीरता से चर्चा की जाएगी और जल्द ही एनएमडीसी विनिवेश को लेकर हो रहे विरोध पर एक रिपोर्ट स्टील मंत्रालय को सौंपेगी।
इस बात की जानकारी कोलकाता में शीर्ष संयुक्त काउंसिलिंग एवं कॉर्पोरेट स्तर की बैठक में एनएमडीसी के सीएमडी बैजेंद्र कुमार ने दी। पिछले दिनों उन्होंने विनिवेश के पक्ष में बयान दिया था, जिसके बाद यहां नगरनार में माहौल गरमा गया था। अब इस मामले में एनएमडीसी द्वारा यू-टर्न लेने के संकेत नजर आ रहे हैं।
बैठक में शामिल समिति के उपाध्यक्ष आरडीसीपी राव से फोन पर हुई चर्चा के दौरान उन्होंने बताया कि सीएमडी से नगरनार स्टील प्लांट के विनिवेश को लेकर चल रही गतिविधियों के बारे में ऑल इंडिया एनएमडीसी वर्कर्स फेडरेशन के चेयरमैन गुरुदास दासगुप्ता ने सवाल-जवाब किया।
राव ने कहा है कि खबरों के मुताबिक सीएमडी ने बैठक में बताया कि विनिवेश को लेकर मजदूर संगठन, बस्तर की जनता, राजनीतिक दलों के लोग, छत्तीसगढ़ सरकार आदि विरोध में हैं। कंपनी भी विनिवेश को लेकर नगरनार सहित पूरे बस्तर में हो रही हलचल पर नजर रखे हुए है। एनएमडीसी बोर्ड की बैठक में वर्तमान परिस्थितियों पर चर्चा करके एक रिपोर्ट मंत्रालय को भेजी जाएगी। नगरनार और बचेली-किरंदुल से बैठक में शामिल कुछ और मजदूर नेताओं से चर्चा करने पर उनका कहना था कि सीएमडी ने चर्चा में संकेत दिए हैं कि विनिवेश को लेकर अगामी दिनों में कोई बड़ा निर्णय सामने आ सकता है।
नगरनार स्टील प्लांट की कमीशनिंग इस साल नहीं हो पाएगी। शबरी नदी से पानी की आपूर्ति की व्यवस्था में देरी के कारण कमीशनिंग में एक से सवा साल का विलंब होने की बात सामने आई है। एनएमडीसी के शीर्ष अधिकारियों ने भी स्वीकार किया है कि कमीशनिंग के लिए पूर्व में घोषित दिसंबर 2017 तक कमीशनिंग संभव नहीं है।

कीवर्ड नगरनार, लौह एवं इस्पात संयंत्र, एनएमडीसी,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक