चीन में माल गोदाम खोलेगा कालीन उद्योग

बीएस संवाददाता | वाराणसी Oct 09, 2017 09:41 PM IST

पिछले कुछ वर्षों में बाल श्रम को लेकर भारतीय कालीन उद्योग की छवि खराब हुई है। उद्योग इसे हर स्तर पर सुधारने का प्रयास कर रहा है। इस छवि के कारण वैश्विक बाजार में उद्योग को नुकसान उठाना पड़ रहा है। अब कालीन उद्योग वैश्विक बाजार में अपनी पकड़ मजबूत करने के लिए अंतरराष्ट्रीय ब्रांडिंग करेगा। वाराणसी में आयोजित चार दिवसीय 34वें भारतीय कालीन मेले की जानकारी देते हुए कालीन निर्यात संवर्धन परिषद् के अध्यक्ष महावीर शर्मा ने बताया कि चीन भारतीय कालीन उद्योग का प्रतिस्पद्र्धी है, लेकिन उसके बावजूद चीन भारतीय हस्तनिर्मित कालीनों का अच्छा बाजार है। इससे परिषद् चीन में अपना माल गोदाम स्थापित करेगा। परिषद् के अध्यक्ष ने कहा कि परिषद् कालीन बुनकरों के उत्थान के लिए एक नीति बनाने हेतु वस्त्र मंत्रालय को एक सुझाव दे रहा है जिसमें स्वास्थ्य, शिक्षा, रोजगार तथा सुरक्षा के लिए नीति बनाकर लागू किया जाए। 
 
वाराणसी में कालीन मेला 
 
केंद्रीय वस्त्र मंत्रालय के सहयोग से कालीन निर्यात संवद्र्धन परिषद् द्वारा वाराणसी में 10 अक्टूबर से चार दिवसीय 34वां भारत कालीन मेला (इंडिया कारपेट एक्सपो) 2017 का आयोजन किया जा रहा है। इसमें 58 देशों के करीब 400 से ज्यादा खरीदारों ने आने की पुष्टि की है। शर्मा ने बताया कि मेले में भदोही मिर्जापुर वाराणसी के साथ विभिन्न राज्यों के लगभग 274 से ज्यादा निर्यातक और कालीन बुनकर आएंगे।
कीवर्ड varanasi, carpet, china,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक