महंगे खनिजों के लिए ई-निविदा

बीएस संवाददाता | लखनऊ Oct 09, 2017 09:49 PM IST

अवैध खनन पर अंकुश लगाने में जुटी योगी सरकार ने अब मंहगे खनिज निकालने का काम मेटल स्क्रैप ट्रेडिंग कॉर्पोरेशन को देने का फैसला किया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में मंगलवार को हुई मंत्रिपरिषद की बैठक में ग्रेनाइट, सिलिका सैंड पैराफाइड जैसे मंहगे खनिजों के खनन का काम ई-निविदा के जरिये कराने के प्रस्ताव को मंजूरी दी गई। इसके लिए मेटल स्क्रैप ट्रेडिंग कॉर्पोरेशन नोडल एजेंसी बनाई गई है। इसके अलावा मंत्रिपरिषद ने प्रदेश के सभी जिलों के डिजिटल मैप बनवाने के प्रस्ताव पर भी सहमति जताई है।
 
मंत्रिपरिषद के फैसलों की जानकारी देते हुए कैबिनेट मंत्री व प्रदेश सरकार के प्रवक्ता श्रीकांत शर्मा व सिद्धार्थनाथ सिंह ने बताया कि बैठक में कुल 8 प्रस्तावों पर चर्चा की गयी। शर्मा के मुताबित प्रदेश 70 जिलों के भू-मानचित्रों का डिजिटलीकरण किया जाएगा। भारत सरकार की इस महत्त्वाकांक्षी योजना के तहत प्रदेश में भी इस पर काम होगा। राज्य सरकार केंद्र की योजना में 5.21 करोड़ रुपये का अंशदान देगी। एक अन्य प्रस्ताव के मुताबिक अब लोक निर्माण विभाग व एनएचएआई के लिए कुछ समय की अवधि के लिए खनन क्षेत्र आरक्षित किए जाएंगे। 
कीवर्ड uttar pradesh, mining, auction, tender,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक