किसानों को एकजुट कर रहे कक्काजी

संदीप कुमार | भोपाल Oct 10, 2017 09:54 PM IST

मध्य प्रदेश में इस साल जून में हुए किसान आंदोलन के सूत्रधार और भारतीय किसान मजदूर संघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिव कुमार शर्मा उर्फ कक्काजी का कहना है कि वह प्रदेश की भाजपा सरकार को हराने के लिए किसानों को एकजुट करने की एक व्यापक योजना पर काम कर रहे हैं। कक्काजी ने बिज़नेस स्टैंडर्ड के साथ बातचीत में कहा कि प्रदेश सरकार ने किसानों की हितैषी होने की जो भ्रामक छवि बना रखी है वह मंदसौर गोलीकांड के बाद टूटने लगी है। 

 
उन्होंने कहा कि इस भ्रमजाल को पूरी तरह खत्म करने के लिए भारतीय किसान मजदूर संघ आगामी जनवरी से प्रदेश में विकास खंड स्तर पर एक चेतना यात्रा शुरू करने जा रहा है। कक्काजी ने कहा कि यात्रा के दौरान ग्रामीण इलाकों में ऐसी वीडियो फिल्म दिखाई जाएंगी, जिनमें सरकार के कृषि और किसान संबंधी दावों की पोल खोली जाएगी। उन्होंने कहा, 'प्रदेश के किसान आगामी विधानसभा चुनाव में शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्त्व वाली भाजपा सरकार को हराने के लिए प्रतिबद्ध हैं। इसके लिए विशेष जागरूकता अभियान की तैयारी चल रही है।' यह पूछे जाने पर कि क्या वह या उनके साथी चुनावी राजनीति का रास्ता अपनाएंगे, कक्काजी ने कहा, 'राजनीति हमारे लिए नहीं है। इसके लिए जिस तरह के संसाधनों और जैसे दिमाग की आवश्यकता होती है वह सीधे-साधे किसानों के वश की बात नहीं है।'
 
सूत्रों के मुताबिक शिवसेना भी मध्य प्रदेश में 150 से अधिक सीटों पर विधानसभा चुनाव लडऩे का मन बना रही है। अगर ऐसा होता है तो भाजपा के कई बागियों को टिकट देकर उसकी राह मुश्किल कर सकती है। कक्काजी कृषि क्षेत्र में स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशों के हिमायती हैं। कभी राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के अनुषंगी भारतीय किसान संघ की मध्य प्रांत इकाई के अध्यक्ष रहे कक्काजी वर्ष 2010 में उस समय चर्चा में आए थे जब उन्होंने 15,000 किसानों के साथ राजधानी भोपाल का घेराव किया था। बाद में उन्होंने एक अलग संगठन की स्थापना की।
कीवर्ड madhya pradesh, bhopal, farmer,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक