तेज आवाज वाले पटाखों पर रोक

बीएस और एजेंसियां | भोपाल Oct 12, 2017 10:26 PM IST

मध्य प्रदेश सरकार ने राज्य में अधिक तीव्रता वाले पटाखों का निर्माण, इन की बिक्री और इस्तेमाल पर रोक लगा दी है। यह आदेश तत्काल प्रभाव से लागू हो गया है। दिलचस्प है कि कुछ दिनों पहले ही राज्य के गृह मंत्री भूपेंद्र सिंह ने दिल्ली के लोगों को दीवाली मनाने के लिए मध्य प्रदेश आने का नियंत्रण दिया था। उच्चतम न्यायालय ने दिल्ली में दीवाली पर पटाखों की बिक्री पर पाबंदी लगा दी है। राज्य के पर्यावरण मंत्री अंतर सिंह आर्या ने आज यहां बताया, 'केंद्रीय पर्यावरण एवं वन मंत्रालय की तरफ से जारी अधिसूचना के आलोक में राज्य में अधिक तीव्रता वाले पटाखों के उत्पादन, इनकी बिक्री एवं इस्तेमाल पर रोक होगी।'

 
शीर्ष न्यायालय के आदेश के बाद मध्य प्रदेश सरकार ने रात्रि 10 बजे से सुबह 6 बजे तक ध्वनि प्रदूषण करने वाले पटाखों पर प्रतिबंध लगा दिया है। न्यायालय के आदेश पर सिंह ने कहा कि दिल्ली में पर्यावरण की स्थिति देखते हुए पटाखों की बिक्री पर रोक लगाई गई है। गृह मंत्री ने कहा, 'दिल्ली सरकार को पर्यावरण स्वच्छ बनाने के लिए कड़ी मेहनत करनी चाहिए। वहां वाहनों की वजह से अधिक प्रदूषण फैला है।'
 
मध्य प्रदेश के 13 जिले सूखाग्रस्त घोषित
 
मध्य प्रदेश सरकार ने प्रदेश के 13 जिलों की 110 तहसीलों को सूखाग्रस्त घोषित कर दिया है। प्रमुख सचिव राजस्व अरुण पांडेय के मुताबिक अशोकनगर जिले की 7, भिंड की 8, छतरपुर की 11, दमोह की 7, ग्वालियर की 5, इंदौर की 5, पन्ना की 9, सागर की 11, सतना की 10, शिवपुरी की 9, सीधी की 7, टीकमगढ़ की 10 और विदिशा की 11 तहसीलों को सूखा प्रभावित घोषित किया गया है। 
कीवर्ड fireworks, madhya pradesh,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक