किसान खुदकुशी पर रिपोर्ट विधानसभा सत्र से पहले

बीएस संवाददाता | चौल्ले बजाड (जालंधर) Nov 03, 2017 09:39 PM IST

पंजाब में किसानों के कर्ज और आत्महत्या पर राज्य विधान सभा की समिति राज्य विधानसभा के आगामी सत्र से पहले अपनी रिपोर्ट सौंप देगी। समिति के चेयरमैन एवं विधायक सुखबिंदर सिंह सुख सरकारिया ने इस बारे में विस्तार से जानकारी देते हुए कहा कि इस दुखद मुद्दे की महत्ता को ध्यान में रखकर पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने इस समिति के गठन की घोषणा की थी। इस समिति में राज्य की सभी पार्टियों के विधायक शामिल हैं। 
 
उन्होंने कहा कि समिति ने आत्महत्या कर चुके किसानों के संबंधियों से मुलाकात करने के लिए राज्य का दौरा किया और इस समस्या की गंभीरता पर गहराई से विचार किया। सुख सरकारिया ने कहा कि समिति इस समस्या के संबंध में एक व्यापक रिपोर्ट और संबंधित उपायों की जानकारी अगले महीने विधानसभा के आगामी सत्र से पहले सदन को सौंपेगी। उन्होंने कहा कि यह राज्य के लिए चिंता की बात है कि देश के लिए अनाज उत्पादक बड़े संकट से जूझ रहे हैं। पंजाब के मुख्यमंत्री के नेतृत्व में राज्य सरकार किसानों को इस संकट से बाहर निकालने के लिए प्रतिबद्घ है।
 
इस समिति ने किसान चैतिंदर सिंह के पारिवारिक सदस्यों से मुलाकात करने के लिए चौल्ले बजाड गांव का दौरा किया। चैतिंदर सिंह ने पिछले साल दिसंबर में आत्महत्या कर ली थी। समिति के सदस्य आत्महत्या कर चुके किसानों के संबंधियों के साथ व्यापक रूप से विचार-विमर्श कर चुके हैं। इन सदस्यों का मानना है कि बढ़ती उत्पादन लागत के साथ साथ मुनाफे पर दबाव किसानों के लिए चिंता की मुख्य वजह रहे हैं। किसानों के साथ बातचीत के दौरान समिति ने उन्हें कस्टम हायरिंग आधार पर सहकारी समितियों से कृषि उपकरण प्राप्त कर अपना खर्च घटाने का सुझाव दिया। 
कीवर्ड panjab, farmer, suiside,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक