कृषक समृद्घि आयोग में भाकियू को भी प्रतिनिधित्व

बीएस संवाददाता | लखनऊ Nov 13, 2017 09:47 PM IST

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने किसानों की बेहतरी के लिए गठित कृषक समृद्धि आयोग में भारतीय किसान यूनियन को भी जगह दी है। सोमवार को जारी की गई अधिसूचना के मुताबिक कृषक समृद्धि आयोग में भाकियू के मीडिया प्रभारी धर्मेंद्र मलिक को भी सदस्य बनाया गया है। इस आयोग में कृषि उत्पादों का कारोबार करने वाली निजी क्षेत्र की कंपनियों के प्रतिनिधियों को भी शामिल किया जाएगा। सरकार निजी क्षेत्र के प्रतिनिधि के तौर पर आईटीसी और महिंद्रा जैसी कंपनियों को शामिल करने पर विचार कर रही है। प्रदेश सरकार कृषक समृद्धि आयोग में खेती के क्षेत्र में अच्छा काम करने वाले अन्य किसानों को भी शामिल करेगी। साथ ही विश्व चावल उत्पादन संघ मनीला, इंडियन काउंसिल फार एग्रीकल्चर रिसर्च (आईसीएआर) के वैज्ञानिक भी आयोग में रखे जाएंगे। योगी सरकार की ओर से हाल ही में गठित आयोग वर्ष 2022 तक प्रदेश के किसानों की आय दोगुनी करने पर विचार करेगा। 
 
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आयोग के अध्यक्ष होंगे, जबकि कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही और नीति आयोग के सदस्य  प्रोफेसर रमेशचंद्र को उपाध्यक्ष बनाया गया है। मुख्य सचिव और कृषि उत्पादन आयुक्तको आयोग में सदस्य बनाया गया है। भारतीय किसान यूनियन के मीडिया प्रभारी धर्मेंद्र मलिक भी आयोग के सदस्य बनाए गए हैं। कृषि उत्पादन आयुक्त आरपी सिंह ने कृषक समृद्धि आयोग के गठन को लेकर सरकारी आदेश जारी किया है जिसमें कहा गया है कि आयोग साल 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने के लिए विचार करेगा।
कीवर्ड farmer, uttar pradesh, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक