मुनाफाखोरी पर बिहार सरकार सख्त

बीएस संवाददाता | पटना Nov 14, 2017 09:41 PM IST

वस्तु व सेवा कर (जीएसटी) में मुनाफाखोरी करने वाले व्यापारियों पर बिहार सरकार सख्त कार्रवाई करेगी। सरकार ने कारोबारियों को कटौती का पूरा फायदा उपभोक्ताओं को देने का आदेश दिया है। ऐसा नहीं करने वाले कारोबारियों से निपटने के लिए राज्य सरकार ने जांच समिति बनाने का फैसला लिया है।  उप-मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी के मुताबिक पहले 28 प्रतिशत दर के तहत आने वाली अधिकांश वस्तुएं अब 18 प्रतिशत की कर श्रेणी में आ गई हैं। 
 
उन्होंने कहा, 'जीएसटी दरें कम करने के लिए पिछले तीन महीने से चर्चा चल रही थी। फिटमेंट कमिटी की सिफारिश के आधार पर जीएसटी परिषद की गुवाहाटी बैठक में 175 वस्तुओं पर कर को सर्वसम्मति से 28 प्रतिशत से घटाकर 18 फीसदी कर दिया गया। इनमें फर्नीचर, पंखा, साफ-सफाई की वस्तुएं, शैंपू, घड़ी, धूप के चश्मे, कपड़े धोने का पाउडर, प्रसाधन सामग्री, मार्बल, ग्रैनाइट, आदि शामिल हैं। करों में इस भारी कटौती का लाभ उपभोक्ताओं को मिलना चाहिए, इसलिए कंपनियों और वितरकों से अपेक्षा है कि वे वस्तुओं के मूल्यों में कटौती करेंगे।' इसके अलावा, उन्होंने होटल और रेस्तरां मालिकों से भी करों में कटौती का फायदा आम जनता को देने का अनुरोध किया। 
कीवर्ड bihar, बिहार, सरकार, GST,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक