लखनऊ में भी पुराने वाहनों पर रोक

बीएस संवाददाता | लखनऊ Nov 14, 2017 09:42 PM IST

बढ़ते प्रदूषण के मद्देनजर अब राजधानी लखनऊ में भी पुरानी डीजल व पेट्रोल गाडिय़ों पर रोक लगा दी गई है। इस संबंध में उत्तर प्रदेश सरकार ने एक आदेश जारी कर लखनऊ में 10 साल पुरानी डीजल गाडिय़ों के संचालन पर रोक लगा दी। इसके साथ ही 15 साल पुरानी पेट्रोल गाडिय़ां भी अब सड़कों पर नहींं दिखेंगी। अकेले राजधानी लखनऊ में ही 20 लाख से ज्यादा वाहन सड़कों पर दौड़ रहे हैं। राज्य सरकार का कहना है कि इनसे लखनऊ में तेजी से प्रदूषण बढ़ रहा है। 
 
लखनऊ के जिलाधिकारी ने अपने आदेश में क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी लखनऊ को पुरानी गाडिय़ों से संबंधित आंकड़े पेश करने को कहा है। जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने कहा है कि सरकारी गाडिय़ों की भी प्रदूषण जांच कराई जाए। उत्तर प्रदेश की राजधानी में बड़ी तादाद में सरकारी गाडिय़ां भी सड़क पर मौजूद हैं, जिनमें बड़ी संख्या डीजल चालित गाडिय़ों की है। पिछले सप्ताह परिवहन विभाग ने एनसीआर और आसपास के इलाकों में 10 साल पुरानी डीजल चालित गाडिय़ों पर रोक लगा दी थी। पश्चिमी उत्तर प्रदेश के आठ जिलों मेरठ, गाजियाबाद, गौतमबुद्धगर, शामली, बुलंदशहर, हापुड़, मुजफ्फरनगर और बागपत के लिए यह आदेश जारी किया गया था।
कीवर्ड lucknow, delhi, pollution, smog,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक