कर मुक्त इमली से मंडी की कमाई को चपत

बीएस संवाददाता | जगदलपुर Nov 29, 2017 09:35 PM IST

बीते 4 महीने से आवक नहीं होने से कृषि उपज मंडी के शेड वीरान पड़े हैं। मंडी कर्मचारियों को अब नए धान के आवक का इंतजार है। जब से इमली को कर मुक्त किया गया है तब से यहां के कर्मचारियों के वेतन पर भी संकट मंडरा रहा है। हालात यह हैं कि उप मंडियों में हो रही आय से यहां के कर्मचारियों को किसी तरह वेतन दिया जा रहा है। मंडी सूत्रों के अनुसार शासन ने जब से इमली को कर मुक्त घोषित किया है, तब से कृषि उपज मंडी में वीरानी छाई है। 
 
अब मंडी को इमली की आवक से केवल सफाई शुल्क मिल रहा है। पहले यहां की मंडी से इमली का निर्यात सऊदी अरब, पाकिस्तान सहित कई देशों को होता था और इससे मंडी को शुल्क के रूप में खासी कमाई होती थी। कर मुक्त करने से सालाना 3.5 करोड़ रुपये का नुकसान हो रहा है।
कीवर्ड jagdalpur, mandi,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक