वैश्विक निवेशकों की राह बनता तेलंगाना

निवेदिता मुखर्जी |  Nov 30, 2017 10:01 PM IST

वैश्विक उद्यमिता सम्मेलन

तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद में सम्पन्न हुए आठवें वैश्विक उद्यमिता सम्मेलन के दौरान सभी की निगाहें इवांका ट्रंप पर रहीं, लेकिन वैश्विक स्तर पर ध्यान आकृष्ट करने के लिए इस हाई-टेक शहर में काफी कुछ है। तेलंगाना सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि एमेजॉन, वॉलमार्ट और आइकिया जैसे वैश्विक ब्रांड यहां काफी अधिक निवेश कर रहे हैं। अमेरिकी खुदरा प्रमुख वॉलमार्ट ने तेलंगाना बनने से कुछ साल पहले हैदराबाद में अपना पहला स्टोर खोला था और अब वह दो-तीन और कैश ऐंड कैरी स्टोर खोलने जा रही है। 

कंपनी के एक अधिकारी ने बिज़नेस स्टैंडर्ड को बताया, 'हैदराबाद में वॉलमार्ट के तीन-चार स्टोर होंगे। भारत के किसी भी शहर में इतनी संख्या में वॉलमार्ट स्टोर नहीं हैं। आगरा और भोपाल में दो-दो वॉलमार्ट स्टोर हैं और यह अभी तक सभी शहरों में सबसे ज्यादा हैं।' ई-कॉमर्स कंपनी एमेजॉन भी तेलंगाना को लेकर काफी आशान्वित है। जेफ बेजोस के नेतृत्व वाले समूह ने यहां छह महीने पहले भारत का सबसे बड़ा आपूर्ति केंद्र स्थापित किया, जिसकी भंडारण क्षमता लगभग 21 लाख टन घन फुट है और यह लगभग 4,00,000 वर्गफुट में फैला है। इसके साथ, तेलंगाना में एमेजॉन के पांच आपूर्ति केंद्र हैं, जिनकी भंडारण क्षमता 32 लाख घन फुट है। वहीं, अमेरिका से बाहर कंपनी का सबसे बड़ा कैंपस 2019 तक गाचीबावली (हैदराबाद) में बनकर तैयार हो जाएगा।

वॉलमार्ट और एमेजॉन के कंपनी कार्याधिकारी, कॉर्पोरेट प्रतिद्वंद्वी और दूसरे वैश्विक ब्रांड तेलंगाना की पारदर्शी उद्योग नीति, एकल खिड़की भुगतान और कारोबारी सुगमता के कारण यहां अपनी रुचि दिखा रहे हैं। एक उद्योग प्रतिनिधि ने बताया कि राज्य के आईटी मंत्री और मुख्यमंत्री चंद्रशेखर राव के बेटे केटी रामा राव के साथ ही मंत्रालय के शीर्ष नौकरशाह हर समय फोन पर उपलब्ध रहते हैं।

स्वीडन की फर्नीचर कंपनी आइकिया ने भी हाल ही में अपना पहला अनुभव केंद्र हैदराबाद में खोला है। यह केंद्र लगभग 4 लाख वर्ग फुट में फैला है और अगले वर्ष से परिचालन प्रारंभ कर देगा। आइकिया भारत के एकल ब्रांड खुदरा क्षेत्र में सर्वाधिक निवेश करने के लिए प्रतिबद्ध है और उसने अब तक 10,500 करोड़ रुपये का निवेश किया है। आईटी क्षेत्र की बहुराष्ट्रीय कंपनियां जैसे माइक्रोसॉफ्ट, एप्पल और गूगल ने भी हैदराबाद में अपनी उपस्थिति दर्ज कराई है। तेलंगाना सरकार में सलाहकार, बीवीपी राव कहते हैं, 'हालांकि हैदराबाद को इसकी सूचना प्रौद्योगिकी और फार्मा के लिए जाना जाता है लेकिन हम रक्षा और एयरोस्पेस के क्षेत्र में भी काम कर रहे हैं।'

उन्होंने कहा, 'जबकि यह रक्षा और एयरोस्पेस क्षेत्र विनिर्माण, सेवा या प्रशिक्षण के लिए है, तेलंगाना सरकार इसमें विस्तार के लिए प्रयासरत है। राज्य द्वारा लॉजिस्टिक और भंडारण पर भी ध्यान दिए जाने से उद्योग आकर्षित हो रहे हैं।'  देश का सबसे बड़ा इन्क्यूबेटर टी-हब भी हैदराबाद की हाईटेक सिटी में स्थित है। अपनी स्थापना के बाद से पिछले दो सालों में इसने लगभग 350 स्टार्टअप को आर्थिक सहायता उपलब्ध कराई है। टी-हब के दूसरे चरण के विस्तार का कार्य शुरू हो चुका है, जिससे इसका कुल क्षेत्रफल 3,65,000 वर्ग फुट हो जाएगा।
कीवर्ड hydrabad, ivanka, seminar, women, startup, telangana,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक