चिकित्सा पर्यटन का बड़ा केंद्र बनेगा वाराणसी

बीएस संवाददाता | वाराणसी Dec 01, 2017 09:44 PM IST

वाराणसी समेत पूर्वांचल के मरीजों को दिल्ली-मुंबई जैसे महानगरों का रुख नहीं करना पड़े। उनके पैसे तथा समय की बचत के लिए पूर्वांचल में अत्याधुनिक चिकित्सकीय क्रांति लाने की योजना पर काम चल रहा है। अगले दो वर्षों में यह परियोजना मूर्त रूप ले लेगी। वाराणसी में नयति हेल्थ केयर ऐंड रिसर्च लिमिटेड की अध्यक्ष नीरा राडिया ने बिजऩेस स्टैंडर्ड को खास बातचीत में बताया कि वह वाराणसी में चिकित्सा पर्यटन का बड़ा केंद्र बनाएगी। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी के स्वर्णिम परियोजना चिकित्सा पर्यटन में पहले से भागीदारी करते हुए मथुरा व आगरा में नयति मेडिसिटी की स्थापना कर चुकी हैं और उनके इस मेडिसिटी में विदेशों से लोग चिकित्सा के लिए आ रहे हैं। नीरा ने कहा कि अब वह वाराणसी, अमृतसर व नागपुर में अपनी परियोजना को साकार करेगी। 
 
उन्होंने वाराणसी में अगले माह से ओपीडी तथा डेकेयर सेवाएं शुरू करने की बात कही। उन्होंने कहा कि लोग इलाज के लिए दिल्ली-मुंबई जाते हैं जबकि नयति हेल्थकेयर में बड़े शहरों से अच्छा इलाज उनके नजदीक ही उपलब्ध होगा। उन्होंने कहा कि नयति हेल्थकेयर में मरीजों के इलाज पर बड़े शहरों की तुलना में 50 प्रतिशत से कम खर्च होता है। नीरा ने कहा कि वाराणसी में विश्वस्तरीय अत्याधुनिक अस्पताल बनेगा जो बनारस तथा पूर्वांचल के लोगों को हर वह सुविधा प्रदान करेगा जो उन्हें अब तक किसी महानगर के बड़े अस्पतालों में ही सुलभ थी। नयति मेडिसिटी के सीईओ डॉ आरके मनी ने कहा कि विश्वस्तरीय स्वास्थ्य सेवाएं जन-जन तक पहुंचाएंगे वह भी कम कीमत में। 
कीवर्ड varanasi, neera radia, health, medical,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक