गुजरात में चुनाव प्रचार जुटे मुंबई के कारोबारी

सुशील मिश्र | मुंबई Dec 03, 2017 09:42 PM IST

गुजरात विधानसभा चुनाव प्रचार अपने चरम पर है। पिछले 22 वर्षों से गुजरात में सत्तारूढ़ भाजपा ने अपने किले को बचाने के लिए इन चुनावों में पूरी ताकत झोंक दी है। नोटबंदी और जीएसटी से नाराज गुजरात के व्यापारियों को मनाने की जिम्मेदारी मुंबई के कारोबारियों को सौंपी गई है। मुंबई से करीब एक हजार कारोबारी गुजरात रवाना हो चुके हैं जो घर-घर जाकर व्यापारियों से मिलेंगे। भाजपा की तरह कांग्रेस और शिवसेना ने भी अपने कारोबारी समर्थकों से गुजरात में प्रचार करने को कहा है।
 
नोटबंदी और जीएसटी का सबसे ज्यादा असर कारोबारियों पर ही पड़ा है और वे भाजपा सरकार से नाराज नजर आ रहे हैं। भाजपा के रणनीतिकारों को भी अच्छी तरह पता है कि कारोबारियों की यह नाराजगी पार्टी को महंगी पड़ सकती है। यही वजह है कि पार्टी ने अपने परांपरागत वोट बैंक को बचाने की जिम्मेदारी मुंबई के कारोबारियों को सौंपी है। करीब 250 कारोबारी साथियों के साथ गुजरात जा रहे मेटल ऐंड स्टेनलेस स्टील मर्चेंट एसोसिएशन (एमएसएमए) के अध्यक्ष जितेन्द्र शाह ने कहा कि कारोबारियों के बीच भ्रम फैलाया जा रहा है कि जीएसटी उनके खिलाफ है। 
 
उन्होंने कहा, 'असल में यह कारोबार के लिए फायदेमंद है। हम कारोबारियों को यही समझाने गुजरात जा रहे हैं।' कपड़ा कारोबारी संदीप भाई ने कहा कि जीएसटी ने सूरत के कपड़ा कारोबारियों को बहुत निराश किया है। उन्होंने कहा कि कारोबारी कांग्रेस का समर्थन नहीं करते, लेकिन सरकार से नाराजगी कांग्रेस को फायदा पहुंचा सकती है। संदीप ने कहा कि कपड़ा कारोबारियों से धैर्य रखने की अपील करने के लिए वे लोग गुजरात जा रहे हैं। कांग्रेस, शिवसेना, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी समर्थक व्यापारी भी गुजरात कूच कर रहे हैं।
कीवर्ड mumbai, gujrat, election, BJP, congress,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक