महाराष्ट्र में जल्द लागू होगी नई निर्यात नीति

सुशील मिश्र | मुंबई Jan 09, 2018 09:53 PM IST

'मैग्नेटिक महाराष्ट्र' की तैयारियों में सरकार

औद्योगिक विकास और निवेश में महाराष्ट्र की बादशाहत बरकरार रखने के लिए राज्य सरकार पहली बार वैश्विक निवेश सम्मेलन 'मैग्नेटिक महाराष्ट्र' की तैयारियों में जुटी है। इस सम्मेलन में मेक इन इंडिया व मेक इन महाराष्ट्र योजना को प्रोत्साहित करने की नीति तैयार की गई है। राज्य का निर्यात बढ़ाने के लिए राज्य सरकार जल्द ही निर्यात नीति लागू करेंगी।  मुंबई में 18 से 20 फरवरी तक होने वाले मैग्नेटिक महाराष्ट्र सम्मेलन का उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करेंगेे। कार्यक्रम में करीब एक दर्जन राज्यों के मुख्यमंत्री और कई उद्योगपति शामिल होंगे।

मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि राज्य के पहले वैश्विक निवेश सम्मेलन का लक्ष्य देश में सभी तरह के औद्योगिक निवेश के लिए प्रवेश द्वार के रूप में महाराष्ट्र की स्थिति को मजबूत करना है। उन्होंने कहा कि राज्य में सर्वश्रेष्ठ मानव संसाधन, उद्योग और सरकारी सहयोग उपलब्ध है। 

सम्मेलन का थीम रोजगार स्थिरता, इंफ्रास्ट्रक्चर और भविष्य के उद्योग रहेगा। मुख्यमंत्री ने बताया कि महाराष्ट्र में निवेश और व्यापार को बढ़ाने के लिए सरकार जल्द ही निर्यात संवर्धन नीति लाने जा रही है। साथ ही महिला उद्यमियों को बढ़ावा देने लिए खास नीति भी जल्दी ही आने वाली है। फडणवीस ने जोर देकर कहा कि हाल की घटनाओं का महाराष्ट्र के निवेश पर कोई असर नहीं होगा। सरकार का लक्ष्य अगले 7-10 सालों में राज्य की अर्थव्यवस्था को एक लाख करोड़ डॉलर पहुंचाने का लक्ष्य रखा है।  महाराष्ट्र के उद्योग मंत्री सुभाष देसाई ने कहा कि राष्ट्रीय जीडीपी में महाराष्ट्र का 15 फीसदी हिस्सेदारी है। इस वित्त वर्ष में राज्य की जीडीपी में 9.4 फीसदी की वृद्धि का अनुमान है। राज्य के जीडीपी में औद्योगिक उत्पादन की हिस्सेदारी 21.43 फीसदी पहुंच चुकी है।
कीवर्ड mumbai, export, import,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक