ठंड ने बढ़ाई भरपूर दलहन पैदावार की उम्मीद

बीएस संवाददाता | पटना Jan 10, 2018 10:04 PM IST

अच्छी बारिश और सामान्य से अधिक ठंड की वजह से इस बार बिहार में दलहन की अच्छी पैदावार की उम्मीद है। राज्य सरकार के आंकड़ों के मुताबिक रबी के चालू मौसम में दलहन का रकबा भी बीते कुछ वर्षों के मुकाबले बढ़ा है। राज्य सरकार के आंकड़ों के मुताबिक इस बार रबी के मौसम में सामान्य से अच्छी पैदावार हो सकती है। इसका सबसे बड़ा फायदा गेहूं की खेती में दिख सकता है। इस बार गेहूं के रकबे में करीब 20,000 हेक्टेयर का इजाफा हुआ है। राज्य सरकार को इस साल कम से कम 60 लाख टन गेहूं की पैदावार की उम्मीद है। तिलहन और दलहन की पैदावार में भी बढऩे की उम्मीद है। अनुकूल मौसम और रकबे में बढ़ोतरी को इसका अहम कारण बताया जा रहा है। राज्य सरकार के अधिकारियों के बताया, 'इस बार सामान्य से अधिक बारिश हुई थी, जिस वजह से मिट्टी में नमी की मात्रा अच्छी खासी रही। ठंड भी नवंबर से शुरू हो गई थी और दिसंबर और जनवरी में अब तक सामान्य अधिक ठंड रही है। इस कारण से रबी फसलों में बीमारी और कीट का खतरा कम हो गया है। इससे पैदावार बढ़ सकती है।' 
 
उन्होंने कहा कि 2016 की तुलना में इस बार गेहूं, मक्का, चना, मसूर, मटर और सरसों आदि फसलों के रकबे में इस साल खासी बढ़ोतरी हुई है। कृषि विभाग के आंकड़ों के मुताबिक इस बार दलहन फसलों का कुल रकबा करीब 4.65 लाख हेक्टेयर रहा, जो वर्ष 2016-17 के रबी मौसम के मुकाबले 10,000 हेक्टेयर ज्यादा है। इसमें भी सबसे ज्यादा इजाफा मसूर की फसल में हुआ है, जिसका रकबा करीब 3,000 हेक्टेयर बढ़ा है। मटर और अरहर दाल का रकबा भी इस साल बढ़ा है। दूसरी तरफ चने के रकबे में करीब 15,000 हेक्टेयर की गिरावट आई है। तिलहन का रकबा भी इस साल बढ़ा है। बीते साल के मुकाबले इस साल करीब 1.3 लाख हेक्टेयर में सरसों की खेती हो रही है, जबकि सूर्यमुखी की खेती का रकबा भी बढ़ा है। विभाग के मुताबिक रबी फसलों की बुआई लगभग पूरी हो गई है।
कीवर्ड agri, farmer, pulses, bihar,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक