समर्पण करने वाले नक्सलियों को आवास मुहैया कराने की योजना

बीएस संवाददाता | रायपुर Jan 11, 2018 09:45 PM IST

छत्तीसगढ़ सरकार राज्य में आत्मसमर्पण करने वाले नक्सलियों को मुख्यधारा में लाने के लिए आवास मुहैया कराने पर विचार कर सकती है। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह ने कहा, 'राज्य सरकार ने सुकमा जिले के आसपास के गांवों में नक्सलियों के लिए 100 मकान बनाने का निर्णय किया है।' यह परियोजना राज्य में आत्मसमर्पण करने के लिए नक्सलियों के लिए छत्तीसगढ़ सरकार के पुनर्वास पैकेज का हिस्सा होगा। इसके तहत समर्पण करने वाले नक्सलियों ंको नकद राशि देने के साथ ही उन्हें राज्य द्वारा संचालित आजीविका कॉलेजों में विभिन्न तरह की कुशलता का प्रशिक्षण भी दिया जाता है। कुछ को राज्य सरकार के प्रतिष्ठïानों में सुरक्षा गार्ड की नौकरी भी दी गई है।
 
सिंह ने कहा कि जिला खनिज फाउंडेशन कोष की मदद से सुकमा में 100 मकान बनाए जाएंगे। सुकमा जिला देश का धुर नक्सल प्रभावित इलाका है। 2017 में छत्तीसगढ़ में 365 नक्सलियों ने समर्पण किया है, जिनमें 48 बड़े नक्सली शामिल हैं। राज्य सरकार ने पहले इस परियोजना के साथ देश की सबसे बड़ी लौह अयस्क उत्पाद एवं निर्यातक एनएमडीसी को साथ लेने की इच्छा जताई है। कंपनी की बस्तर इलाके में लौह-अयस्क की खदान है और यहां से होने वाले उत्पादन का कंपनी के कुल उत्पादन में बड़ी हिस्सेदारी है। राज्य सरकार ने इलाके में उसे 200 यूनिट बनाने का काम सौंपा है।  समर्पण करने वाले नक्सलियों के लिए आवासीय परियोजना शुरू करना राज्य की उस रणनीति का हिस्सा है, जिसके तहत उन्हें मुख्यधारा में लाने की पहल की जा रही है।
कीवर्ड chattisgarh, naxal,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक