एमबीएमसी में सत्तापक्ष की तालाबंदी

सुशील मिश्र | मुंबई Jan 24, 2018 09:50 PM IST

मुंबई से सटी मीरा-भायंदर महानगरपालिका (एमबीएमसी) का काम पिछले सप्ताह से ठप है। महानगरपालिका की महापौर, इसके उप-महापौर और सभापति सहित ज्यादात्तर सत्तापक्ष के नगरसेवक अपने दफ्तरों में तालाबंदी कर आयुक्त का विरोध कर रहे हैं। सत्ता पक्ष के इस रवैये की चारों तरफ आलोचना हो रही है। आम जनता और विपक्ष के साथ सत्ताधारी भाजपा के कई नेता भी तालाबंदी को गलत बता रहे हैं। महापौर सहित संवैधानिक पद पर बैठे सभी पदाधिकारियों के कार्यालयों के बाहर तालाबंदी का स्टीकर लगा हुआ है, जिनमें उनके मोबाइलन नंबर भी दिए गए हैं। 
 
एमबीएमसी में काम ठप होने की वजह से लोग परेशान है ही, इससे भी कहीं अधिक वे सत्ता पक्ष की तालाबंदी से हैरान है। लोगों का कहना है कि यहांं की सत्ता में भाजपा है, राज्य और केंद्र तक भाजपा की सरकार है, ऐसे में ये लोग विरोध प्रदर्शन कर जनता को परेशान कर रहे हैं।  दूसरी तरफ महानगरपालिका की महापौर डिंपल मेहता तालाबंदी को अपना लोकतांत्रिक अधिकार बताती हैं।  उन्होंने कहा कि हम शहर का विकास चाहते हैं, लेकिन आयुक्त कोई भी काम होने नहीं दे रहे हैं। डिंपल ने आरोप लगाया कि आयुक्त मनमाने तरीके से काम करते हैं और बैठकों में भी शामिल नहीं होते हैं। सत्तापक्ष के तालाबंदी का जमकर विरोध हो रहा है। एमबीएमसी में विरोधी पक्ष के नेता राजू भोईर कहते हैं कि जनता ने उन्हें समर्थन काम करने के लिए दिया, लेकिन ये जनता का नहीं बल्कि अपना काम कर रहे हैं। 
कीवर्ड mumbai, meera bhayender, MBMC,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक