बिहार के कर संग्रह में 39 फीसदी की गिरावट

बीएस संवाददाता | पटना Jan 25, 2018 10:00 PM IST

वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) से बिहार सरकार को राजस्व में कमी आने की आशंका सताने लगी है। जीएसटी से राज्य सरकार की कमाई को जबरदस्त झटका लगा है। अब अगले साल के लिए उसे केंद्रीय करों में हिस्से और अनुदान में कटौती का भी डर सता रहा है। राज्य सरकार को चालू वित्त वर्ष में अपने करों से 32,000 करोड़ रुपये की कमाई की उम्मीद है। इसमें सबसे बड़ा हिस्सा वाणिज्य करों का है, जिसके तहत राज्य सरकार को करीब 25,000 करोड़ रुपये की कमाई होनी है। हालांकि, इस बार जीएसटी की वजह से राज्य सरकार के कर संग्रह को भारी झटका लगा है। 
 
राज्य के उप-मुख्यमंत्री व वित्त मंत्री सुशील कुमार मोदी के मुताबिक चालू वित्त वर्ष में अप्रैल से दिसंबर के बीच राज्य ने करों के संग्रह में 39 फीसदी कमी दर्ज की है। पटना में मुख्य सचिवालय में उद्योग प्रतिनिधियों के साथ गुरुवार बजट पूर्व चर्चा की शुरुआत में उप-मुख्यमंत्री ने कहा, 'हम राज्य करों से कमाई में इजाफा करने की पूरी कोशिश कर रहे हैं। हालांकि, इस साल के शुरुआती नौ महीनों में हमारे अपने करों से कमाई में 39 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है।' अगर चालू वित्त वर्ष में राज्य सरकार कर संग्रहण का लक्ष्य हासिल करने में नाकामयाब रहती है, तो यह लगातार दूसरा ऐसा मौका होगा। पिछले वित्त वर्ष भी राज्य सरकार का कर राजस्व 18,000 करोड़ रुपये रहा, जबकि उसका लक्ष्य 24,000 करोड़ रुपये था। 
कीवर्ड bihar, बिहार, सरकार, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक