छत्तीसगढ़ में 29,245 करोड़ रुपये के कृषि ऋण का अनुमान

आर कृष्णा दास | रायपुर Jan 30, 2018 09:57 PM IST

छत्तीसगढ़ में 2018-19 के दौरान कृषि ऋण के 29,245 करोड़ रुपये रहने का अनुमान है। राष्ट्रीय कृषि एवं ग्रामीण विकास बैंक (नाबार्ड) द्वारा तैयार राज्य केंद्रित पत्र (एसएफपी) में कहा गया है कि 2018-19 में कुल कृषि क्षेत्र का ऋण अनुमान 17,781.85 करोड़ रुपये रह सकता है। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह ने आज यह रिपोर्ट जारी की। कृषि क्षेत्र के लिए ऋण अनुमान में से 5,788.84 करोड़ रुपये कृषि एवं सहायक गतिविधियों, कृषि-इन्फ्रास्ट्रक्चर में पूंजी सृजन के तौर पर रखा गया है। इसी तरह 11,981.99 करोड़ रुपये फसल उत्पादन, रखरखाव और विपणन मद में दिए जाएंगे। सूक्ष्म, लघु एवं मझोले (एमएसएमई) क्षेत्र में वित्त वर्ष 2018-19 के दौरान 8,249.62 करोड़ रुपये का ऋण लिया जा सकता हैै।

 
वित्त वर्ष 2018-19 के एसएफपी की थीम भारत सरकार की पहल प्रति बूंद ज्यादा फसल, एमएसएमई (मुद्रा एवं स्किल इंडिया) और जलवायु परिवर्तन रखी  गई है।  पत्र में इसे रेखांकित किया गया है कि 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने का प्रयास ज्यादा प्रासंगिक और महत्त्वाकांक्षी है, लेकिन समयबद्घ रूप से किसानों के लिए आय सुरक्षा लाना चुनौतीपूर्ण है। इस लक्ष्य को हासिल करने के लिए कृषि क्षेत्र में पूंजी सृजन बढ़ाने, राज्य के डेयरी क्षेत्र को सुदृढ़ बनाने क्षेत्र विकास योजनाएं क्रियान्वित करने तथा केसीसी के दायरे एवं जेएलजी मॉडल में अधिक से अधिक किसानों को लाने पर ज्यादा ध्यान दिया जाएगा। किसानों के उत्पादक संगठनों (एफपीओ) तथा उनके फेडरेशन को प्रोत्साहित करने से किसानों की आय बढ़ाने में मदद मिल सकती है। रिपोर्ट में कहा गया है कि जमीन रिकॉर्ड के डिजिटलीकरण से सभी हितधारकों में भरोसा बढ़ा है। 
कीवर्ड chattisgarh, farmer, loan,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक