बरेली-नोएडा में खुलेंगे तीन टेक्सटाइल पार्क

बीएस संवाददाता | लखनऊ Jan 31, 2018 09:39 PM IST

उत्तर प्रदेश सरकार बरेली, नोएडा और फर्रुखाबाद में तीन टेक्सटाइल पार्क की स्थापना करेगी। नोएडा में यमुना एक्सप्रेसवे के किनारे टेक्सटाइल पार्क की स्थापना की जाएगी जबकि बरेली में इसे स्थापित करने की तैयारी चल रही है।  नई वस्त्र उद्योग नीति आने के बाद राज्य सरकार को देश की कई बड़ी परिधान कंपनियों से निवेश के प्रस्ताव मिल रहे हैं। प्रदेश सरकार के हैंडलूम और वस्त्र उद्योग विभाग को फरवरी के तीसरे सप्ताह में होने वाले निवेशक सम्मेलन में इस क्षेत्र के लिए 5,000 करोड़ रुपये का निवेश मिलने की उम्मीद है।
 
निवेशक सम्मेलन की तैयारियों के बारे में जानकारी देते हुए प्रमुख सचिव हैंडलूम, वस्त्रोद्योग, आवास एवं नगर नियोजन मुकुल सिंघल ने बताया कि उत्तर प्रदेश पहले से ही कपड़ा उद्योग के लिए मशहूर रहा है। प्रदेश में कपास का उत्पादन बंद होने और अन्य प्रदेशों में कच्चे माल की उपलब्धता के चलते बीते कुछ वर्षों से यहां की टेक्सटाइल कंपनियों पर संकट था। सिंघल के मुताबिक जीएसटी लागू होने के बाद देश के सभी राज्यों में उद्योग लगाने और व्यापार करने से समान अवसर उपलब्ध हो गए हैं जिसके चलते प्रदेश को वस्त्रोद्योग में आस बंधी है। 
 
प्रमुख सचिव के मुताबिक निवेश सम्मेलन में देश की कई बड़ी टेक्सटाइल कंपनियों के प्रतिनिधि हिस्सा लेने आ रहे हैं। अभी तक मिले प्रस्तावों के मुताबिक अकेले टेक्सटाइल क्षेत्र में 5,000 करोड़ रुपये का निवेश हो सकता है।  उन्होंने बताया कि नोएडा परिधान निर्यात परिषद ने यमुना एक्सप्रेसवे के किनारे टेक्सटाइल पार्क की स्थापना का प्रस्ताव प्रदेश सरकार को भेजा है, जिस पर काम चल रहा है। बरेली में टेक्सटाइल पार्क की स्थापना के लिए विशेष उद्देश्यीय कंपनी (एसपीवी) का गठन हो चुका है। बरेली में टेक्सटाइल पार्क के जमीन चिह्निïत की जा चुकी है। फर्रुखाबाद में भी टेक्सटाइल पार्क के लिए प्रदेश सरकार को प्रस्ताव मिल चुका है। सिंघल ने बताया सभी टेक्सटाइल पार्क निजी सार्वजनिक-निजी भागीदारी (पीपीपी) के आधार पर विकसित किए जाएंगे। 
 
उन्होंने बताया कि प्रदेश की बीमार टेक्सटाइल कंपनियों को पुनर्जीवित करने के प्रयास चल रहे हैं, जिनमें कानपुर की कई बड़ी कंपनियां शामिल हैं। सिंघल के मुताबिक उत्तर प्रदेश में कानपुर, गोरखपुर और लखनऊ में भी टेक्सटाइल मिल की स्थापना के लिए निवेशकों से बातचीत की जा रही है। 
कीवर्ड textiles, कपड़ा एवं परिधान नीति,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक