आमागुड़ा तक रेल लाइन के दोहरीकरण का काम अंतिम चरण में

बीएस संवाददाता | जगदलपुर Feb 05, 2018 09:56 PM IST

आमागुड़ा की ओर से प्रारंभ किया गया रेल लाइन के दोहरीकरण का काम अब अंतिम चरणों में है। 13 किलोमीटर लंबी इस लाइन का ट्रायल मार्च में हो सकता है। सरगीपाल रेलवे क्रॉसिंग तक दोहरीकरण कर लिया गया है। अब साइडिंग को शिफ्ट करते ही स्टेशन को लाइन से जोड़ दिया जाएगा। आमागुड़ा से आगे कोरापुट तक कुछ जगहों पर मिट्टïी का काम लगभग पूरा किया जा चुका है।  जगदलपुर से किरंदुल तक 150 किमी लंबे रेलमार्ग के लिए 1,143 करोड़ रुपये और जगदलपुर से कोरापुट तक 110 किमी लंबे रेलमार्ग के लिए रेल मंत्रालय ने 1,547 करोड़ रुपये स्वीकृत किए थे। 
 
रेलवे सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक जगदलपुर से किरंदुल की ओर कुल 150 किमी लंबी लाइन पर दोहरीकरण का काम तेजी से चल रहा है। जगदलपुर से सिलकझोड़ी तक 50 किमी लंबी लाइन के दोहरीकरण का काम पूरा किया जा चुका है। सिलकझोड़ी से गीदम तक 15 किमी का काम अंतिम चरणों में है। गीदम से दंतेवाड़ा तक 12 किमी लंबी लाइन पर भी दोहरीकरण का काम तेजी से चल रहा है। लेकिन दंतेवाड़ा से किरंदुल तक का काम फिलहाल प्रारंभ नहीं किया जा सका है। वहां अभी अर्थवर्क का काम चल रहा है, जो अंतिम चरण में बताया गया है। इधर जगदलपुर से कोरापुट तक 110 किमी लंबी लाइन के दोहरीकरण का पहला चरण पूरा कर लिया गया है। जगदलपुर से आमागुड़ा तक 13 किमी लंबी लाइन पर पटरी बिछाने का काम कर लिया गया है।  रेलवे के तकनीकी अधिकारियों के मुताबिक जगदलपुर से कोरापुट के बीच विषम भौगोलिक परिस्थितियों के चलते काम पूरा करने में काफी अड़चन आ रही है। यही वजह है कि काम तेजी से नहीं हो पा रहा है।
कीवर्ड bastar, railway,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक