अवैध खनन पर नकेल कसेगा पंजाब

बीएस संवाददाता | जालंधर Feb 05, 2018 09:57 PM IST

पंजाब सरकार ने अवैध खनन पर अंकुश लगाने के लिए कमर कस ली है। राज्य के  मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने अवैध खनन और खनन इकाइयों द्वारा कर चोरी पर नकेल कसने के लिए विभिन्न विभागों के सहयोग से एक विशेष संयुक्त कार्यदल बनाने का निर्देश दिया है। इस टीम का नेतृत्व राज्य के सभी जिलों में संबंधित उपायुक्त करेंगे। एक आधिकारिक प्रवक्ता ने कहा कि इस कार्यदल में कराधान, खनन, राजस्व और पुलिस विभाग के अधिकारी शामिल होंगे।  मुख्यमंत्री ने अवैध खनन के मुद्दे को गंभीरता से लिया है। मुख्यमंत्री ने स्पष्टï किया कि अवैध खनन में शामिल लोगों एवं इकाइयों और कर चोरी करने वालों के खिलाफ सख्ती बरती जाएगी। उन्होंने कहा कि अवैध खनन और कर चोरी से राज्य के खजाने को खासा नुकसान पहुंचा है और इससे निपटने के लिए प्राथमिकता के आधार पर कार्रवाई करनी होगी। सिंह ने माना कि उनका राज्य अब और वित्तीय नुकसान सहने की स्थिति में नहीं है। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस मामले में किसी तरह का राजनीतिक हस्तक्षेप बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने अधिकारियों को अवैध खनन पर तत्काल कार्रवाई करने का निर्देश दिया। सिंह ने वित्त पर उप-समिति की बैठक में खनन विभाग की समीक्षा के बाद स्टोन क्रशर भी कड़ी निगरानी रखने का निर्देश दिया। ये स्टोन क्रशर ज्यादातार मुख्य रूप से रूपनगर, एसएएस नगर और पठानकोट में हैं। खनन विभाग के काम-काज में तेजी लाने और इसे अधिक प्रभावी बनाने के लिए बैठक में एक नया खनन विभाग बनाने के प्रस्ताव पर भी चर्चा हुई। 
 
पाइप से गैस आपूर्ति 
 
राज्य सरकार ने शहरी आबादी को विभिन्न इस्तेमाल के लिए पाइप के जरिये गैस आपूर्ति से जुड़ी एक व्यापक नीति पर मुहर लगा दी। राज्य के स्थानीय प्रशासन मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने आज इस बात की जानकारी दी। सिद्धू ने कहा कि शहरी क्षेत्रों में सभी तरह की बुनियादी सुविधाएं देने के लिए उनका विभाग प्रगतिशील नीतियां बना रहा है।  
कीवर्ड panjab, मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक