विपक्ष पर तीखे हमले की तैयारी में महाराष्ट्र सरकार

सुशील मिश्र | मुंबई Feb 09, 2018 09:45 PM IST

महाराष्ट्र में बजट सत्र की तैयारियां जोर-शोर से शुरू हो गई हैं। मंत्रालय के अधिकारी बजट सत्र की तैयारियों में व्यस्त हैं तो विपक्ष भी सरकार को घेरने की तैयारी में जुटा है। विपक्ष इस बार सरकार को अपनी एकता दिखाने की योजना तैयार कर रहा है, वहीं सरकार भी विपक्ष को उसी की भाषा में जवाब देने की तैयारी में जुटी है।  महाराष्ट्र का बजट सत्र 26 फरवरी से शुरू हो रहा है। माना जा रहा है कि सत्र काफी हंगामेदार रहेगा। सत्ता पक्ष और विपक्ष की तैयारियों को देखकर लग रहा है कि एक बार फिर सरकार विपक्ष पर भारी पड़ सकती है। विपक्ष का आरोप है कि पिछले चार सालों में राज्य सरकार किसान विरोधी नीतियां लेकर आई है, जिनसे किसान आत्महत्या करने पर विवश हो रहे हैं। विधानसभा में विपक्ष के नेता राधाकृष्ण विखे पाटील ने कहा कि राज्य सरकार लगभग सभी मुद्दों पर विफल रही है। विपक्ष के साथ फडणवीस सरकार को अपनी सहयोगी शिवसेना के हमले भी झेलने पड़ सकते हैं। पिछले चार सालों में सरकार विपक्ष पर भारी रही है, क्योंकि सदन के बाहर शिवसेना भले ही सरकार की आलोचना करती रही, लेकिन सदन के अंदर वह सरकार के साथ खड़ी रही है। इस बार शिवसेना ने बगावती तेवर अपना लिए हैं। 
 
राज्य सरकार भी विपक्ष के हमले बेअसर करने के लिए कमर कस चुकी है। बजट सत्र के पहले महाराष्ट्र सरकार दनादन औद्योगिक नीतियों की घोषणा कर रही है। दो दिन पहले ही राज्य मंत्रिमंडल ने एक साथ सात औद्योगिक नीतियों को मंजूरी दी है। पिछले एक महीने से उद्योग जगत के महारथियों के साथ बैठकों का दौर तेज है। दरअसल राज्य में औद्योगिक निवेश को आकर्षित करने के लिए 18 फरवरी से मुंबई में होने वाले 'मैग्नेटिक महाराष्ट्र' के पहले सरकार निवेशकों, कारोबारियों और उद्योगपतियों का दिल जीतने में लगी है। राज्य सरकार 'मैग्नेटिक महाराष्ट्र' सम्मेलन में बड़े औद्योगिक करार करके विपक्ष का मुंह बंद करना चाह रही है।
कीवर्ड mumbai, shivsena, BJP, budget,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक