मध्य प्रदेश में ओलावृष्टि बिजली गिरने से 4 की मौत

बीएस संवाददाता | भोपाल Feb 11, 2018 09:34 PM IST

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल समेत कई जिलों में रविवार दोपहर अचानक हुई बारिश और ओलावृष्टि ने एक तरफ जहां मौसम में दोबारा ठंडक पैदा कर दी, वहीं किसानों के माथे पर बल पड़ गए। विशेषज्ञों के मुताबिक खेतों में मौजूद गेहूं, चना, मटर और मसूर आदि की फसलों को बेमौसम बारिश और आलों से भारी नुकसान होने की आशंका है।  राजधानी भोपाल के अलावा बैतूल, सतना, छिंदवाड़ा आदि जिलों में भी ओले गिरे। राजधानी भोपाल में दोपहर करीब डेढ़ बजे से आधे घंटे तक तेज बारिश और ओलावृष्टि हुई। बाद में भी बारिश के झोंके रुक-रुक कर आते रहे। प्रदेश के अलग-अलग इलाकों में बिजली गिरने से कम से कम चार लोगों की मौत हो गई। मुरैना जिले में खेत में सिंचाई कर रहे दो लोग आकाशीय बिजली गिरने से मौत का शिकार हो गए। भिंड और डबरा जिले में भी बिजली गिरने से एक-एक व्यक्ति की मौत हो गई। स्काईमेट द्वारा जताए गए पूर्वानुमान के मुताबिक अगले 24 से 48 घंटों के दौरान प्रदेश के अनेक हिस्सों में और बारिश तथा ओलावृष्टि देखने को मिल सकती है। इस दौरान दिन के तापमान में 2 से 3 डिग्री और रात के तापमान में 1-2 डिग्री सेल्सियस की गिरावट देखने को मिल सकती है।
 
महाराष्ट्र में भी ओवावृष्टि से फसलों को नुकसान
 
महाराष्ट्र के कुछ हिस्सों में रविवार को बेमौसम ओलावृष्टि और भारी बारिश से एक व्यक्ति की मौत हो गई और फसलों को  नुकसान पहुंचा। राज्य सरकार के अधिकारियों ने बताया कि बारिश संबंधी घटनाओं के कारण दो महिलाएं घायल भी हुई हैं। धुले, नांदुबार, बीड और जालना जिलों में बेमौसम बारिश और ओलावृष्टि हुई। एक अधिकारी ने बताया कि सुबह साढ़े सात बजे से ओलावृष्टि शुरू हुई और आधे घंटे तक जारी रही। 
कीवर्ड madhya pradesh, bhopal, lighting,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक