यूपी में धान की खरीद का बनेगा रिकॉर्ड

बीएस संवाददाता | लखनऊ Feb 14, 2018 10:17 PM IST

योगी सरकार गेहूं खरीद की ही तर्ज पर धान की सरकारी खरीद का रिकॉर्ड बनाने जा रही है। प्रदेश में धान की सरकारी खरीद का आंकड़ा 40 लाख टन के पार जा पहुंचा है। धान की सरकारी खरीद 28 फरवरी तक चलेगी। प्रदेश सरकार ने इस बार खरीफ के सीजन में 50 लाख टन धान की सरकारी खरीद का लक्ष्य रखा है। प्रदेश सरकार के प्रवक्ता के मुताबिक अब तक करीब 41.44 लाख टन धान की खरीद की जा चुकी है और इस मद में 476365 किसानों को  6431 करोड़ रुपये का भुगतान किया जा चुका है। योगी सरकार में मूल्य समर्थन योजना के तहत  प्रदेश में खोले गए धान क्रय केंद्रों के माध्यम से, अब तक 41.44 लाख टन धान किसानों से सीधे क्रय किया गया है। बीते साल इस अवधि में 26.56 लाख टन धान की खरीद की गई थी। पिछले साल की इसी अवधि की तुलना में इस साल  लगभग डेढ़ गुना अधिक खरीद हुई है। इस योजना से अब तक 476365 किसान लाभान्वित हुए हैं और किसानों को 6431.618 करोड़ रुपये का भुगतान उनके खातों में सीधे किया गया है। 
 
खाद्य एवं रसद विभाग से जारी की गई रिपोर्ट के मुताबकि अकेले सोमवार को ही 20317.58  टन धान की खरीद हुई है। गौरतलब है कि सरकार ने खरीफ क्रय वर्ष 2017-18 के अंतर्गत 50 लाख टन धान खरीद का लक्ष्य रखा है, जिसके सापेक्ष अब तक करीब 83 प्रतिशत खरीद हो चुकी है।  इस बार सरकार ने प्रदेश भर में किसानों के धान की खरीद के लिए 3000 धान क्रय केंद्र खोले हैं। पहली बार प्रदेश सरकार ने क्रय केंद्रों पर धान की बिक्री के लिए किसानों का पंजीकरण भी शुरू किया है। किसानों का ये पंजीकरण वेबसाइट पर किया जा रहा है। बिना पंजीकरण धान की खरीद नही की जा रही है। सरकार का कहना है कि पंजीकरण की व्यवस्था से किसानों को बिचौलियों व आढ़तियों के हाथों अपना उत्पाद नही बेचना पड़ रहा है।  प्रदेश सरकार किसानों से धान 1550 रुपये से 1590 रुपये प्रति क्विंटल की दर से खरीद रही है। 
कीवर्ड uttar pradesh, agri, paddy,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक