सीलिंग की समस्या का समाधान कुछ दिनों में : पुरी

भाषा | नई दिल्ली Feb 22, 2018 03:14 PM IST

केंद्र सरकार ने दिल्ली में अवैध निर्माण की जद में आए व्यावसायिक परिसरों की सीलिंग की समस्या का समाधान अगले कुछ दिनों में करने का भरोसा दिलाया है। आवास एवं शहरी मामलों के राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) हरदीप सिंह पुरी ने आज कहा कि दिल्ली के मास्टर प्लान-2021 में जरूरी संशोधन कर सीलिंग की समस्या के समाधान का काम पूरा कर लिया गया है। अगले कुछ दिनों में दिल्ली को मास्टर प्लान से जुड़ी सीलिंग जैसी अन्य समस्याओं से निजात मिलेगी। पुरी ने आज यहां भवन निर्माण सामग्री और नई तकनीक विषय पर आयोजित सम्मेलन का उद्घाटन करने के बाद संवाददाताओं को बताया दिल्ली की ताजा समस्या सीलिंग की कार्रवाई के कारण पैदा हुई है। माननीय उच्चतम न्यायालय के आदेश के मुताबिक हमने दिल्ली के उपराज्यपाल, अपने मंत्रालय और दिल्ली विकास प्राधिकरण (डीडीए) सहित अन्य सभी पक्षकारों के साथ पिछले 15 दिनों में गहन विचार मंथन के बाद समस्या के समाधान की रूपरेख तय कर ली है।

पुरी ने बताया कि इस दिशा में सभी पक्षकारों से कई दौर की बातचीत, जनसुनवाई और लगभग 800 मौखिक आवेदनों तथा सुझावों पर विचार के बाद स्थाई समाधान की कार्ययोजना तय की गई है। उन्होंने कहा समस्या के सर्वमान्य समाधान की कवायद पूरी कर ली गई है और मैं विश्वास दिला सकता हूं कि दिल्ली के मास्टर प्लान में जरूरी संशोधन करने की जरूरत से जुड़ी सभी समस्याओं के दूर होने में अब साल या महीने नहीं लगेंगे। धैर्य रखें, अब कुछ दिनों का इंतज़ार करना ही बाकी है। उन्होंने स्पष्ट किया कि सीलिंग की कार्रवाई उच्चतम न्यायालय के निर्देश पर की गई है। इससे उपजी समस्या के समाधान की कार्ययोजना से मंत्रालय एवं अन्य संबद्ध पक्षकारों द्वारा उच्चतम न्यायालय को हलफनामे के माध्यम से अवगत कराया जाएगा। पुरी ने कहा कि इसके लिए दिल्ली के मास्टर प्लान 2021 में जो भी जरूरी संशोधन करना अनिवार्य हैं, उन्हें डीडीए से मंज़ूरी मिल गई है। जल्द ही समाधान की कार्ययोजना को घोषित कर दिया जाएगा।

कीवर्ड दिल्ली, सीलिंग, अवैध निर्माण, मास्टर प्लान, डीडीए,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक