मप्र: बजट सत्र शुरू, कांग्रेस ने की कर्ज माफी की मांग

भाषा | भोपाल Feb 26, 2018 10:21 PM IST

मध्य प्रदेश विधानसभा का बजट सत्र राज्यपाल आनंदीबेन पटेल के अभिभाषण के साथ आज शुरू हुआ। इस दौरान मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस ने प्रदेश के किसानों का कर्ज माफ करने की सरकार से मांग की। राज्यपाल ने मध्य प्रदेश को कृषि उत्पादन के लिए लगातार पांच बार मिले कृषि कर्मण पुरस्कार एवं भावांतर योजना सहित किसानों के हित के लिए की गई उपलब्धियों का जिक्र किया। इस पर मुकेश नायक, सुंदरलाल तिवारी, गोविन्द सिंह, बाला बच्चन एवं जीतू पटवारी सहित कांग्रेस सदस्यों ने किसानों की दुर्दशा एवं कर्जमाफी को लेकर नारेबाजी की।
इस दौरान कांग्रेस सदस्यों ने सदन में तख्तियां भी दिखाई। राज्यपाल ने कहा कि सरकार ने डीजल पर वैट की दर 27 से घटाकर 22 फीसदी और पेट्रोल पर वैट की दर 31 से घटाकर 28 फीसदी कर दी। इन दोनों पेट्रोलियम पदार्थों पर प्रति लीटर डेढ़ रुपये के अतिरिक्त कर को समाप्त कर दिया गया है।
उन्होंने कहा, 'मेरी सरकार ने गत 7 वर्षों से प्रदेश में शराब की कोई दुकान नहीं खोली है। इस वर्ष नर्मदा नदी के किनारे की 66 शराब की दुकानें बंद की गई हैं। इन दोनों मुद्दों पर भी कांग्रेस सदस्यों ने विरोध करते हुए हंगामा किया।' इसके अलावा आनंदीबेन ने प्रदेश सरकार की सिंचाई, बिजली, नकद रहित, सड़क नेटवर्क, आवास, पेयजल, स्चच्छ भारत मिशन, स्मार्ट सिटी योजना, मेट्रो रेल प्रोजेक्ट, शिक्षा, वन संरक्षण, स्वास्थ्य सुधार, कुपोषण समाप्त करने एवं बेरोजगारी दूर करने की सहित विभिन्न उपलब्धियों का जिक्र किया।
राज्यपाल ने कहा कि प्रदेश सरकार सबका साथ-सबका विकास की अवधारणा से कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि सरकार की प्राथमिकता हर गरीब के लिए रोटी, कपड़ा, मकान के साथ पढ़ाई, दवाई और रोजगार है और रहेगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश में लगभग 98 फीसदी करदाताओं को जीएसटी के दायरे में लाया जा चुका है।
कीवर्ड MP, Budget session, Opposition, Crop loan,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक