किसानों की समस्या पर अकाली दल नहीं गंभीर: अमरिंदर

बीएस संवाददाता | जालंधर Mar 19, 2018 09:47 PM IST

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने अकाली दल को किसान कर्ज माफी के मुद्दे पर संसद का घेराव करने की चुनौती दी है। उन्होंने कहा कि अगर सुखबीर सिंह बादल के नेतृत्व में अकाली दल किसानों के संकट को लेकर वाकई गंभीर है तो उसे केंद्र सरकार पर दबाव बनाने के लिए संसद का घेराव करना चाहिए।  मुख्यमंत्री का यह बयान बादल के उस बयान के बाद आया है जिसमें उन्होंने किसानों के हित के लिए राज्य विधानसभा का घेराव करने की बात कही है। अमरिंदर ने कहा कि अकाली दल और इसका शीर्ष नेतृत्व किसानों की समस्याओं पर केवल घडिय़ाली आंसू बहा रहे हैं। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार में सहयोगी के तौर पर शामिल होने और सुखबीर की पत्नी हरसिमरत कौर के केंद्रीय मंत्रिमंडल में मंत्री होने के बावजूद अकाली दल राज्य के किसानों के लिए मदद लेने में असफल रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि अगर सुखबीर किसानों की समस्या को लेकर वाकई गंभीर होते तो वह केंद्र सरकार से राज्य के किसानों के लिए कुछ न कुछ मदद लेने में कामयाब रहते। मुख्यमंत्री ने आगामी 24 मार्च को राज्य विधानसभा में वित्त वर्ष 2018-19 के लिए पेश होने वाले बजट में किसानों के लिए कर्ज माफी का प्रावधान करने का वादा किया। 

 
मुख्यमंत्री, मंत्री स्वयं करेंगे आय कर भुगतान
 
राज्य में मुख्यमंत्री और उनके मंत्रिमंडल के सदस्य मार्च 2018 से स्वयं अपने आय कर का भुगतान कर पाएंगे। राज्य मंत्रिमंडल ने इस संबंध में सोमवार को एक संशोधन प्रस्ताव पर मुहर लगा दी। कैबिनेट मंत्री का ओहदा हासिल होने के कारण विपक्ष के नेता भी इसकी जद में आएंगे। इस समय मुख्यमंत्री और उनके मंत्रियों के आय कर का भुगतान राज्य के खजाने से होता है। नए संशोधन से राज्य के खजाने में खासी बचत होगी। 
कीवर्ड panjab, मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक